comscore नकली डॉक्यूमेंट्स दिखाकर सिम कार्ड खरीदने वाले हो जाएं सावधान, भारी जुर्माने के साथ हो सकती है जेल - fake documents to get SIM card and fake identity on WhatsApp Telegram will be jailed know more details
News

नकली डॉक्यूमेंट्स दिखाकर सिम कार्ड खरीदने वाले हो जाएं सावधान, भारी जुर्माने के साथ हो सकती है जेल

नए नियम में नकली डॉक्यूमेंट्स दिखाकर सिम कार्ड खरीदने वालों को और ओटीटी प्लेटफॉर्म पर अपनी गलत जानकारी देने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। ओटीटी प्लेटफॉर्म्स में WhatsApp, Telegram व Signal जैसी ऐप्स भी शामिल हैं।

  • Published: September 29, 2022 5:03 PM IST

Highlights

  • साइबर क्राइम व फ्रॉड पर लगाम लगाएगा नया नियम
  • 50,000 रुपये के जुर्माने के साथ हो सकती है जेल
  • WhatsApp, Telegram व Signal जैसी ऐप्स पर भी अपनी गलत जानकारी देने पर मिलेगी सजा
Sim


साइबर क्राइम को अंजाम देने के लिए अक्सर अपराधी फेक डॉक्यूमेंट्स का इस्तेमाल करते हैं, ताकि ट्रेक करने पर उनकी पहचान रिवील न हो। हालांकि, बढ़ते साइबर क्राइम को देखते हुए अब नियम पहले से ज्यादा सख्त हो गए हैं। हाल ही में Indian Telecommunication Bill 2022 का ड्राफ्ट जारी किया गया है। नए नियमों में अब नकली डॉक्यूमेंट्स दिखाकर सिम कार्ड खरीदना और ऑनलाइन अपनी नकली जानकारी प्रोवाइड करना भी जुर्म के दायरे में आएगा। ऐसा करने वाले शख्स को 50,000 रुपये तक का जुर्माना या फिर सेल की सलाखों के पीछे भी Also Read - WhatsApp में फोटो और वीडियो का स्क्रीनशॉट लेना होगा बंद, जानें क्या है नया अपडेट

Economic Times की लेटेस्ट रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है। रिपोर्ट के मुताबिक, Department of Communication ने बिल के बारे में जानकारी देते हुए बताया है कि यह बिल टेलीकॉम सर्विस में बढ़ रहे फ्रॉड पर लगाम लगाएगा। Also Read - WhatsApp में आने वाला है नया फीचर, वीडियो कॉल के दौरान इस्तेमाल कर पाएंगे दूसरे ऐप्स

नए नियम में नकली डॉक्यूमेंट्स दिखाकर सिम कार्ड खरीदने वालों को और ओटीटी प्लेटफॉर्म पर अपनी गलत जानकारी देने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। ओटीटी प्लेटफॉर्म्स में WhatsApp, Telegram व Signal जैसी ऐप्स भी शामिल हैं। अगर आप इन नियमों के खिलाफ जानते हैं, तो आप पर 50,000 रुपये तक का जुर्माना या फिर 1 साल तक की जेल हो सकती है। कई मामलों में दोनों सजाएं दी जा सकती है। ऐसे मामलों में पुलिस मुजरिम को बिना वॉरंट के भी गिरफ्तार कर सकती है। Also Read - WhatsApp Windows App के लिए आ रहा नया फीचर, शेयर कर सकेंगे कॉन्टैक्ट कार्ड

सरकार द्वारा लाए नए नियमों का उद्देश्य तेजी से बढ़ते साइबर क्राइम व फ्रॉड पर लगाम लगाना है।

KYC के नियम हुए सख्स

यूनियम टेलीकॉम मिनिस्टर Ashwini Vaishnav ने कहा कि नया बिल कई प्रकार के साइबर क्राइम पर रोक लगा सकता है। साथ ही उन्होंने ओटीटी के लिए सख्त हुए केवाईसी (KYC) नियम की भी जानकारी दी।

उन्होंने यह भी कहा कि यह जरूरी है कि रिसीवर को पता चले कि उसे कौन कॉल कर रहा है। डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकम्युनिकेशन ने Telecom Regulatory Authority of India (TRAI) को ऐसा सिस्टम बनाने को कहा है जिसके जरिए रिसीवर के फोन के डिस्प्ले में कॉलर का वो नाम शो हो, जो उसने KYC डॉक्यूमेंट में दर्ज किया है।

  • Published Date: September 29, 2022 5:03 PM IST

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.