comscore यूरोप में भी कोरोनावायरस को लेकर शेयर हो रही हैं फेक न्यूज, 5G नेटवर्क को बता रहे हैं खतरा | BGR India Hindi
News

यूरोप में भी कोरोनावायरस को लेकर शेयर हो रही हैं फेक न्यूज, 5G नेटवर्क को बता रहे हैं खतरा

ऑनलाइन रूमर्स में कहा जा रहा है कि कोरोनावायरस के संक्रमण नए 5G नेटवर्क के कारण भी फैल रहा है। जो कि पूरी तरह से गलत है। बता दें कि कोरोनावायरस बीमारी (COVID-19) का संक्रमण किसी भी प्रकार के रेडियो तरंगों (Radio waves) के माध्यम से नहीं फैलता है।

Coronavirus 1

कोरोनावायरस (coronavirus) के संक्रमण के चलते दुनियाभर में हालात चिंताजनक बने हुए हैं। ऐसे में कोरोनावायरस के संक्रमण को लेकर भी तेजी से रूमर्स फैल रहे हैं। ऐसी ही एक ऑनलाइन रूमर्स में कहा जा रहा है कि कोरोनावायरस के संक्रमण नए 5G नेटवर्क के कारण भी फैल रहा है। जो कि पूरी तरह से गलत है। बता दें कि कोरोनावायरस बीमारी (COVID-19) का संक्रमण किसी भी प्रकार के रेडियो तरंगों (Radio waves) के माध्यम से नहीं फैलता है। Also Read - कोरोनावायरस लॉकडाउन के चलते सैमसंग ने सभी प्रोडक्ट की वॉरेंटी बढ़ाई

CNET की रिपोर्ट के मुताबिक, इससे यूनाइटेड किंगडम (UK) में ब्रॉडबेंड इंजिनियर्स और फोन टॉवर्स पर हमले का खतरा बढ़ गया है। रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि फोन टावर्स पर आगजनी जैसी घटाएं भी हो सकती है। हालांकि यूके के नेशनल मेडिकल डायरेक्टर ने कोरोनावायरस के संक्रमण में 5G नेटवर्क की थ्योरी को पूरी तरह से बकवास करार दिया है। Also Read - PM-CARES Fund : कोरोनावायरस के खिलाफ जंग में करें मदद, घर बैठे ऐसे करें डोनेट

सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर 4.2 मिलियन फॉलोअर्स वाली अमेरिकी गायिका केरी हिलसन ने बीते महीने कई ट्वीट किए हैं, जिनमें उन्होंने कोरोनोवायरस संक्रमण के फैलने को 5G से जोड़ने का प्रयास किया गया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि कई सारे अध्ययन, ऑर्गनाइजेशन, पीटिशन हमें सालों से 5G के प्रति आगाह कर रहे हैं। यह सब रेडिशन के कारण ही हो रहा है। चीन में 5G लॉन्च हुआ और एक नवंबर 2019 से लोग मरने शुरू हो गए। Also Read - Coronavirus challenge: टिकटॉक बनाने वाले लड़के को हुआ कोरोनावायरस! चाटी थी पब्लिक टॉयलेट सीट

इसके साथ ही YouTube और Facebook पर भी एंटी 5G फेसबुक ग्रुप पर इस प्रकार की भ्रामम दावे पोस्ट किए जा रहे हैं। मार्च महीने में Ben Mackie नाम के फेसबुक यूजर ने 5G नेटवर्क को कोरोनावायरस से जोड़ते हुए कहा कि यह वास्तव में वायरस नहीं है। उन्होंने लिखा है जब दुनियाभर में 5G टावर बनाए जा रहे हैं तो वे आपको एक फेक वायरस के नाम से डरा रहे हैं।

उन्होंने यह भी दावा किया कि माइक्रोसॉफ्ट के को-फाउंडर बिल गेट्स ने टेक्नोलॉजी इंवेंट की है और यह दुनियाभर को दिखाने भर की जनसंख्या कम करने का प्रयास है। इसके साथ ही Mackie यह भी कहते हैं कि कोरोनावायरस के लिए वैक्सीन बन चुकी है जो असल में चिप है, जिसे मनुष्यों के शरीर में लगाया जाएगा।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें।

  • Published Date: April 6, 2020 1:38 PM IST
  • Updated Date: April 6, 2020 1:42 PM IST