comscore FASTag रजिस्ट्रेशन के दौरान धोखाधड़ी, बैंक से उड़ाए 50 हजार रुपये | BGR India Hindi
News

FASTag रजिस्ट्रेशन के दौरान धोखाधड़ी, बैंक से उड़ाए 50 हजार रुपये

राष्ट्रीय राजमार्ग में ऑनलाइन टोल कलेक्शन के लिए FASTag लागू किए जाने के साथ लोगों से धोखाधड़ी के मामले में सामने आने लगे हैं। FASTag रजिस्ट्रेशन के दौरान बेंगलुरू में शातिरों ने एक व्यक्ति के अकाउंट से पचास हजार रुपये उड़ा लिए। 

fastag

राष्ट्रीय राजमार्ग में ऑनलाइन टोल कलेक्शन के लिए FASTag लागू किए जाने के साथ लोगों से धोखाधड़ी के मामले में सामने आने लगे हैं। FASTag रजिस्ट्रेशन के दौरान बेंगलुरू में शातिरों ने एक व्यक्ति के अकाउंट से पचास हजार रुपये उड़ा लिए। The Times of India की रिपोर्ट के मुताबिक, FASTag वॉलेट न चलने की शिकायत करने पर यूजर को कथित तौर पर Axis बैंक के कस्टमर केयर एक्सेक्यूटिव का कॉल है। यूजर को कस्टमर केयर की ओर से एक ऑनलाइन फॉर्म दिया गया।


शातिरों ने पीड़ित को फेक Axis Bank – FASTag फॉर्म दिया और रजिस्ट्रेशन प्रोसेस के लिए UPI PIN प्राप्त कर लिया। पीड़ित ने TOI को बताया कि उसने शातिरों को अपना पूरा नाम, UPI PIN और रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर जैसी जानकारी बताई। इसके बाद पीड़ित से फोन में आया OTP पूछा तो यूजर ने शातिरों को यह बता दिया जिसके कुछ ही देर बाद पीड़ित के अकाउंट से 50000 रुपये निकालने का मैसेज आया। मैसेज आने के बाद पीड़ित ने तुरंत मामले की शिकायत पुलिस में दर्ज करवाई।

What is a FASTag?

FASTag – रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टेक्नोलॉजी [Radio Frequency Identification (RFID)] पर बेस्ड स्टिकर है, जिसे गाड़ी के सामने वाले शीशे (windscreen) पर चिपकाया जाता है। टोल बूथ पर RFID रीडर होंगे जो इसे FASTags को स्कैन करेंगे। स्कैन करते ही आपके फास्टैग अकाउंट से पेमेंट हो जाएगी, जिसकी इंफॉर्मेशन आपको SMS के जरिए मिलेगी।

How does FASTag work?

फास्टटैग रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टेक्नोलॉजी Radio Frequency Identification (RFID) पर बेस्ड स्टिकर है जो सभी गाड़ियों के सामने वाले शीशे (windscreen) पर चिपकाया जाता है। टोल बूथ पर RFID रीडर होंगे जो इसे FASTags को स्कैन करेंगे। इससे लगाना का बेनिफिट यह होगा कि टोल बूथ पर ड्राइविंग के दौरान आपकी गाड़ी से टोल अपने आप ही कट जाएंगा। इस तरह आप बिना टोल पर रुके टोल खरीद पाएंगे।

How to get FASTag?

FASTags को ऑथराइज्ड बैंक Axis Bank, ICICI Bank, IDFC Bank, Syndicate Bank, SBI और HDFC Bank से खरीदा जा सकता है। इसे आप कुछ चुनिंदा पेट्रोल पंप, RTO, टोल प्लाजा और Paytm से भी खरीद सकते हैं। बता दें कि FASTag खरीदने के लिए यूजर्स के पास पहचान पत्र (ID) और एडरस प्रूफ के साथ-साथ वाहन का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC) होनी जरूरी है। नेशनल हाइवे ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) फिलहाल FASTags मुफ्त में दे रही है। एक दिसंबर के बाद इसे खरीदने के लिए यूजर्स को टैग के लिए 100 भुगतान करना होगा। Paytm या फिर बैंक टैग को खरीदने से जुड़ी जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें।

  • Published Date: January 22, 2020 10:29 PM IST