comscore Xiaomi के लिए बड़ी मुसीबत, 5551 करोड़ रुपये वसूली को मिली मंजूरी- FEMA authority confirms seizure order of Rs 5551.27 crore against Xiaomi check details here
News

Xiaomi के लिए बड़ी मुसीबत, 5551 करोड़ रुपये वसूली को मिली मंजूरी

Xiaomi इंडिया के लिए मुश्किलें बढ़ गई हैं। ED द्वारा कंपनी से हजारों करोंड़ रुपये की जब्ती के आदेश को अब FEMA ऑथोरिटी को मंजूरी मिल गई है। डिटेल के लिए नीचे पढ़ें।

Highlights

  • Xiaomi India से 5551.27 करोड़ रुपये की होगी वसूली।
  • FEMA ऑथोरिटी ने दी मंजूरी।
  • ED ने अप्रैल में दिया था जब्ती का आदेश।
Xiaomi Civi 2

FEMA confirms seizure of Rs 5551.27 crore by ED against Xiaomi India



विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (Foreign Exchange Management Act) की धारा 37A के तहत नियुक्त सक्षम प्राधिकारी ने शाओमी इंडिया के खिलाफ हजारों करोड़ रुपये की जब्ती के आदेश को मंजूरी दे दी है। FEMA के प्रावधानों के तहत Xiaomi Technology India Private Limited के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ED) द्वारा जब्ती का आदेश पारित किया गया है। इसके तहत कंपनी से 5551.27 करोड़ रुपये जब्त किए जाएंगे। यह भारत में होने वाली अभी तक की सबसे बड़ी जब्ती होगी। प्रवर्तन निदेशालय ने शुक्रवार यानी 30 सितंबर, 2022 को यह आदेश दिया है। बता दें कि ED ने जब्ती का आदेश FEMA के तहत 29 अप्रैल, 2022 को दिया था। उसके बाद इसे संबंधित ऑथोरिटी के पास अप्रूवल के लिए भेजा गया था। डिटेल के लिए नीचे पढ़ें। Also Read - चार कैमरे के साथ लॉन्च होगा Xiaomi 13 Ultra फोन! रिपोर्ट से हुआ खुलासा

Xiaomi India से होगी इतनी वसूली

यह अभी तक भारत में होने वाली सबसे बड़ी जब्ती का आदेश है। इससे पहले इस बड़ी जब्ती देश में पहले कभी नहीं हुई है। प्राधिकरण ने 5,551.27 करोड़ रुपये की जब्ती की पुष्टि करते हुए कहा कि ईडी इस मामले में सही है। Xiaomi India ने 5,551.27 करोड़ रुपये के बराबर विदेशी मुद्रा Xiaomi इंडिया द्वारा अनधिकृत तरीके से भारत से बाहर ट्रांसफर की गई है। Also Read - शानदार फीचर्स के साथ Redmi के दो 'धाकड़' स्मार्टफोन जल्द लेंगे ग्लोबल बाजार में एंट्री! लॉन्च से पहले IMEI डेटाबेस पर हुए लिस्ट

भारत में नियम के तहत इस प्रकार के अप्रूवल का अधिकार Foreign Exchange Violations के पास है। Xiaomi टेक्नोलॉजी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के खिलाफ FEMA की धारा 37A के तहत आदेश जारी किया गया है। Xiaomi MI के ब्रांड नाम के तहत देश में मोबाइल फोन का एक व्यापारी और वितरक है और Xiaomi India चीन स्थित Xiaomi समूह की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है। Also Read - 108MP कैमरा, 5160mAh बैटरी और 8GB तक RAM वाले Xiaomi 11i 5G को सस्ते में खरीदने का मौका, मिल रहा 3000 रुपये का Flat Discount

ईडी के अनुसार, शाओमी ने साल 2014 में अपना काम भारत में शुरू किया था। उसके अगले साल से ही यानी 2015 में फंड्स को विदेश भेजने शुरू कर दिया था। ED का आरोप है कि कंपनी ने रॉयल्टी देने की आड़ में 5551.27 करोड़ रुपये विदेशी मुद्रा विदेश में आधारित तीन कंपनियों को भेजीं हैं। इसमें एक ग्रुप की ही कंपनी है। बाकी दो कंपनियां अमेरिका में बेस्ड हैं, लेकिन उन्हें भेजी गई रकम का मकसद भी Xiaomi ग्रुप की कंपनियों को फायदा पहुंचाना ही है।

  • Published Date: September 30, 2022 7:54 PM IST

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.