comscore आ गया दुनिया का सबसे तेज सुपरकम्प्युटर Frontier, एक सेकेंड में करेगा करोंड़ो काम
News

आ गया दुनिया का सबसे तेज सुपरकम्प्युटर Frontier, एक सेकेंड में करेगा करोंड़ो काम

59वें इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस ऑफ कम्प्युटर एक्सपर्ट में दुनिया के TOP500 सुपरकम्प्युटर्स की लिस्ट जारी की गई, जिसमें US डिपार्टमेंट ऑफर एनर्जी Oak Ridge National Laboratory (ORNL) द्वारा डेवलप किया गया Frontier सुपरकम्प्युटर सबसे टॉप में शामिल है।

Frontier

अमेरिकी सुपरकम्प्युटर Frontier को दुनिया का सबसे तेज सुपरकम्प्युटर घोषित किया गया है। इस सुपरकम्प्युटर ने जापान के सबसे तेज माने जाने वाले Fugaku को पीछे छोड़ दिया है। जापानी सुपरकम्प्युटर को Riken Institute of Fujitsu ने डेवलप किया है। Frontier जापानी सुपरकम्प्युटर से स्पीड के मामले में 1.1 एक्साफ्लॉप (exaflop) प्वाइंट तेज है। Also Read - भारतीय सुपर कंप्यूटर 'परम सिद्धि' का दुनिया भर में जलवा, जानें क्या है ग्लोबल रैंकिंग?

59वें इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस ऑफ कम्प्युटर एक्सपर्ट में दुनिया के TOP500 सुपरकम्प्युटर्स की लिस्ट जारी की गई, जिसमें US डिपार्टमेंट ऑफर एनर्जी Oak Ridge National Laboratory (ORNL) द्वारा डेवलप किया गया Frontier सुपरकम्प्युटर सबसे टॉप में शामिल है। रिसर्च एक्सपर्ट्स ने सभी सुपरकम्प्युटर की प्रोसेसिंग स्पीड को एक्सास्केल (Exascale) के आधार पर मापी है, जो एक सेकेंड में किए गए क्विनटिलियन कैल्कुलेशन पर आधारित है।

Frontier में क्या है खास?

  • इस सुपरकम्प्युटर की पीक परफॉर्मेंस 2 एक्साफ्लॉप्स (exaflops) या दो क्विंटिलियन कैल्कुलेशन प्रति सेकेंड है।
  • Frontier जापानी सुपरकम्प्युटर Fungaku से दोगुना से ज्यादा तेज है।
  • यह सुपरकम्प्युटर साइंटिस्ट्स को देश की एनर्जी, इकोनॉमिक और नेशनल सिक्योरिटी के लिए रिसर्च करने में मदद करेगा। साथ ही,
  • यह देशहित के लिए पांच साल से असंभव लगने वाले जटिल दिक्कतों को सुलझा सकता है।
  • इस सुपरकम्प्युटर की एक्सास्केल परफॉर्मेंस दुनिया के सबसे एडवांस माने जाने वाले वाली कंपनियां Hawlett Packard (HP) Enterprise और Advance Micro Devices (AMD) द्वारा इनेबल की गई है।
  • यह एक सुपरकम्प्युटर एक सेकेंड में करोड़ों कैल्कुलेशन करने में सक्षम है।

बड़े साइंटिफिक चैलेंज को कर सकता है सॉल्व

ORNL ने Frontier के बारे में अपने ट्विटर हैंडल से पोस्ट किया है। कंपनी के डायरेक्टर थोमस जाचारिया (Thomas Zacharia) ने स्टेटमेंट जारी करते हुए कहा कि यह एक्सास्केल कम्प्युटिंग के नए युग की शुरुआत है। इसके जरिए दुनिया के बड़े साइंटिफिक चैलेंज को सॉल्व किया जाएगा।

यह सुपरकम्प्युटर Green500 की लिस्ट में भी पहले स्थान पर रहा है। जिस मात्रा में यह एनर्जी का इस्तेमाल करते हैं, वह उपलब्ध सुपरकम्पुयटिंग सिस्टम के मुकाबले कम है। साथ ही, यह 62.68 गिगाफ्लॉप्स प्रति वॉट की परफॉर्मेंस प्रोड्यूस कर सकता है।

इस सुपरकम्प्युटर में 8000 पाउंड्स के 74 केबिनेट्स दिए गए हैं। COVID-19 महामारी के दौरान शुरू हुए ग्लोबल शटडाउन के समय इसकी डेवलपमेंट शुरू हुई थी। इसे बनाने में 100 से ज्यादा पब्लिक और प्राइवेट टीमों ने हिस्सा लिया। इसमें 9,400 AMD पावर नोड्स लगाए गए हैं। वहीं, नेटवर्किंग केबल के लिए 90 मीलके वायर लगे हैं।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: May 31, 2022 11:42 AM IST



new arrivals in india