comscore Jio प्लेटफॉर्मस में 6,598 करोड़ रुपये निवेश करेगी जनरल अटलांटिक
News

Jio प्लेटफॉर्मस में 6,598 करोड़ रुपये निवेश करेगी जनरल अटलांटिक

जनरल अटलांटिक ने जियो प्लेटफॉर्म में निवेश करते हुए 1.34 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी है। बीते एक महीने में जियो प्लेटफॉर्मस को मिलने वाला यह चौथा निवेश है। जनरल अटलांटिक के निवेश करने के साथ ही जियो प्लेटफॉर्मस अब तक कुल  67 हजार 194 करोड़ रुपये का निवेश मिल चुका है।

reliance-jio-iot-internet-of-things

रिलायंस इंडस्ट्री डिजिटल सर्विस प्रोवाइडर कंपनी जियो प्लेटफॉर्मस को एक बार फिर बड़ा निवेश मिला है। फेसबुक और विस्टा इक्विटी पार्टनर के बाद जियो प्लेटफॉर्मस में  अमेरिकन प्राइवेट इक्विटी फर्म जनरल अटलांटिक ने निवेश का एलान किया है। रिलायंस इंडस्ट्री की ओर से जारी किए एक बयान में बताया है कि जनरल अटलांटिक जियो प्लेटफॉर्मस में  6598 करोड़ रुपये रुपये का निवेश करेगी। Also Read - शाओमी के अपकमिंग Redmi 10X स्मार्टफोन 8GB रैम और 256GB स्टोरेज के साथ होगा लॉन्च

जनरल अटलांटिक ने जियो प्लेटफॉर्म में निवेश करते हुए 1.34 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी है। बीते एक महीने में जियो प्लेटफॉर्मस को मिलने वाला यह चौथा निवेश है। जनरल अटलांटिक के निवेश करने के साथ ही जियो प्लेटफॉर्मस अब तक कुल  67 हजार 194 करोड़ रुपये का निवेश मिल चुका है। Also Read - Huawei P40 Lite 5G स्मार्टफोन 5 कैमरों और 4000mAh बैटरी के साथ हुआ लॉन्च, जानें कीमत

Facebook और Vista Equity कर चुके हैं बड़ा निवेश

अमेरिका की Vista Equity Partners (विस्टा इक्विटी पार्टनर) जियो प्लेटफॉर्म (Jio Platforms) में 11,367 रुपये का निवेश करेगी। इस रकम से विस्टा जियो प्लेटफॉर्म लिमिटिड में 2.3 पर्सेंट हिस्सेदारी खरीदी है। वहीं Facebook  ने Jio Platforms में 9.9 पर्सेंट हिस्सेदारी 43,534 करोड़ रुपये में खरीदी थी। इसके अलावा सिल्वर लेक ने भी 1.55 पर्सेंट हिस्सेदारी के लिए जियो में 5655 करोड़ रुपये का निवेश किया है। Also Read - Moto G8 Power Lite स्मार्टफोन भारत में 21 मई को होगा लॉन्च, जानें कीमत और फीचर्स

2016 में हुई थी जियो की शुरुआत

आपको बता दें कि रिलायंस जियो की शुरुआत 2016 में हुई थी। कंपनी ने महज कुछ साल में ही भारतीय टेलीकॉम सेक्टर में अपनी धाक जमा ली है। टेलीकॉम सेक्टर में जियो की एंट्री के बाद से एक बड़ा कंसॉलिडेशन शुरू हुआ था, जो अभी तक जारी है। इस दौरान जियो की एंट्री से छोटी प्राइवेट कंपनियों को अपना बिजनेस बंद करने के लिए मजबूर होना पड़ा था। अब भारत के टेलीकॉम स्पेस में रिलायंस जियो के अलावा वोडोफोन आइडिया और भारती एयरटेल जैसी प्राइवेट कंपनियां ही बची हैं। सरकारी टेलीकॉम कंपनियां भी बीएसएनलएल और एमटीएनएल अपना बिजनेस कर रही हैं।

टेलीकॉम से लेकर ई-कॉमर्स में किया विस्तार

जियो ने टेलीकॉम सेक्टर से लेकर ई-कॉमर्स में अपना विस्तार कर लिया है। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन ने एक बयान में कहा कि विस्टा को अपना पार्टनर बनाते हुए हमें बेहद खुशी हो रही है। यह दुनिया के बड़े टेक इन्वेस्टर्स में से एक है। उन्होंने कहा कि इससे हम आगे मिलकर टेक्नोलॉजी को और आगे ले जाने में मदद मिलेगी।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें।

  • Published Date: May 17, 2020 6:22 PM IST