comscore साल 2017 के बाद गूगल क्रोम के पुराने वर्जन पर काम नहीं करेगा जीमेल | BGR India
News

साल 2017 के बाद गूगल क्रोम के पुराने वर्जन पर काम नहीं करेगा जीमेल

जीमेल यूजर्स के लिए एक बड़ी खबर सामने आ रही है। इस साल के अंत कर क्रोम ब्राउजर वर्जन 53 और उससे नीचे वर्जन पर जीमेल काम नहीं करेगा।

gmail-encryption

गूगल ने जीमेल के लिए बड़ी घोषणा की है। गूगल के ऑफिशियली ब्लॉग पोस्ट में गूगल ने कहा कि इस साल के अंत तक क्रोम ब्राउजर वर्जन 53 औक उससे नीचे के वर्जन पर जीमेल काम नहीं करेगा। गूगल ने जीमेल यूजर्स से अपने क्रोम ब्राउज को जल्द ही अपग्रेड करने की सलाह दी है, जिससे वह जीमेल को एक्सेस कर सकें। इसके साथ ही गूगल ने कहा जो यूजर्स विंडो एक्सपी और विंडो विस्ता का इस्तेमाल कर रहे हैं वह भी जीमेल का इस्तेमाल इस वर्ष के अंत के बाद नहीं कर पाएंगे। गूगल की ओर से यह एक बड़ी घोषणा मानी जा रही है। इसका असर प्रफेशनल और अनप्रोफेशनल तौर पर जीमेल का इस्तेमाल करने वाले यूजर्स पर पड़ेगा। Also Read - How to Use Gmail Offline: बिना इंटरनेट के इस तरह यूज करें जीमेल, बहुत आसान है तरीका

Also Read - Google Talk के बाद Hangouts भी हो रहा बंद, जानें अब कौन लेगा इसकी जगह

कंपनी का कहना है कि इस कदम को उठाना काफी जरूरी था क्योंकि क्रोम ब्राउजर वी55 में कई सिक्योरिटी अपडेट्स हैं। कंपनी का साफ तौर पर कहना है कि जो यूजर्स विंडोज एक्सपी और विंडोज विस्ता पर क्रोम ब्राउजर वी49 का इस्तेमाल कर रहे हैं वो जल्द अपडेट कर लें। वहीं, गूगल की ओर से कहा गया है कि जो जीमेल यूजर्स पुराने क्रोम ब्राउजर पर इसका इस्तेमाल करेंगे उन्हें कई खतरे रहेंगे। जिनमें जमीले हैक होने की संभावना भी है। इसके साथ ही यूजर्स जीमेल पर नए अपडेट्स का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। Also Read - Google Doodle Today: जानें कौन थीं Anne Frank, जिन्हें आज खास डूडल बनाकर गूगल ने किया सम्मानित

इसे भी देखें: 5.2-इंच डिसप्ले और 3जीबी रैम के साथ लॉन्च हुआ हॉनर 8 लाइट

एक सजग नोट के रूप में कंपनी का कहना है हम अपनी करंट सपोर्ट ब्राउजर पोलीसी के कारण इस बात की घोषणा नहीं कर रहे हैं कब से जीमेल यूजर्स पूराने क्रोम ब्राउजर को एक्सेस नहीं कर पाएंगे।

बता दें कि हाल ही में गूगल ने अपने उपभोक्ताओं को संभावित वायरसों से बचाने के लिए घोषणा की थी कि जीमेल पर 13 फरवरी से जावास्क्रिप्ट फाइलें नहीं भेजी जा सकेंगी। कंपनी ने अपने आधिकारिक ब्लॉग पर कहा, “जीमेल पर वर्तमान में कई फाइल अटैचमेंट सुरक्षा कारणों से प्रतिबंधित है (जैसे .इएक्सइ, .एमएससी और .बीएटी)। अन्य प्रतिबंधित फाइलों की ही तरह अब आप जेएस फाइलें नहीं भेज पाएंगे और इसे भेजने के दौरान एक सुरक्षा चेतावनी भी सामने आएगी।”

ब्लॉग पोस्ट में आगे कहा गया है कि अगर आप 13 फरवरी के बाद जावास्क्रिप्ट अटैचमेंट भेजना चाहते हैं तो आप गूगल ड्राइव, गूगल क्लाउड स्टोरेज और अन्य स्टोरेज समाधान के माध्यम से भेज सकेंगे या साझा कर सकेंगे।

इसे भी देखें: सोनी एक्सपीरिया जेड5 प्रीमियम (2017) हो सकता है MWC 2017 में पेश

वहीं, इससे पहले सर्च इंजन गूगल ने गूगल वॉयस में एक बड़ा अपडेट किया है। गूगल वॉयस का यह नया संस्करण एंडरॉयड, आईओएस और वेब के लिए उपलब्ध होगा। इस अपडेट के अंतर्गत अब यह फोटो शेयरिंग, ग्रुप चैट, स्पेनिश भाषा वॉयस मेल ट्रांसक्रिप्शन जैसी कई नई सुविधाओं को अपडेट किया है। बता दें काफी समय से गूगल वॉयस में कोई मेजर अपडेट देखने को नहीं मिला है। गूगल ने हाल ही में घोषणा की थी कि गूगल होम उपयोगकर्ता अब डिवाइस का उपयोग नेटफ्लिक्स स्ट्रीम करने में कर सकते हैं।

इसे भी देखें: वनप्लस वन में कैसे करें एंडरॉयड 7.1.1 नुगट अपडेट

गूगल ब्लॉग पर पोस्ट की गई जानकारी के अनुसार इस अपडेट के बाद गूगल वॉयस में इनबॉक्स को एक नया आयाम प्रदान किया गया है। जानकारी के अनुसार अब इनबॉक्स में टेक्स्ट मैसेज के लिए एक अलग टैब दिया जा रहा है। जिसकी मदद से अब बातचीत का एक नया जरिया मिलेगा, जिससे यूजर्स अपने सभी संपर्कों को एक ही जगह पर देख सकतें हैं।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: February 2, 2017 4:30 PM IST
  • Updated Date: February 15, 2022 3:46 PM IST



new arrivals in india