comscore
News

गूगल ने महान गणितज्ञ ओल्गा लेडिजेनस्काया को डूडल बना कर दी श्रद्धांजलि

गणित और फ्लुइड डायनमिक्स में उनके कार्यों के लिए उन्हें साल 2002 में लोमोनोसोव गोल्ड मेडल से सम्मानित किया गया था।

google doodle main

गूगल ने आज रशियन गणितज्ञ ओल्गा लेडिजेनस्काया को याद करते हुए डूडल बनाया है। आज यानी 7 मार्च को साल 1922 में ओल्गा लेडिजेनस्काया का जन्म हुआ था। ओल्गा को पार्शियल डिफरेंशल इक्वेशंस और फ्लुइड डायनमिक्स में किए उनके अद्वितीय काम के लिए जाना जाता है। इस रशियन गणितज्ञ द्वारा इजाद किए गए इक्वेशंस की मदद से ओशियनोग्रफी, एयरोडायनमिक्स और मौसम के पूर्वानुमान जैसे क्षेत्रों में काम करने वाले वैज्ञानिकों को काफी मदद मिलती है।

गूगल ने उन्हें याद कर जो डूडल बनाया है उसमें ओल्गा लेडिजेनस्काया के चेहरे के साथ उनके द्वारा बनाई इक्वेशन और फ्लुइड डायनमिक्स को दिखाया गया है। ओल्गा के पिता भी गणितज्ञ थे उनके पिता गर्मियों की छुट्टी में उन्हें गणित पढ़ाते थे जिसके बाद उनकी गणित में रुचि तेज होती गई। ओल्गा कई बार अपने गणितज्ञ होने के श्रेय अपने पिता को दे चुकी हैं।

विश्व के बहतरीन गणितज्ञों में गिने जाने वाले ओल्गा का बचपन काफी कठिनाइयों में गुजरा था। उनके पिता की मृत्यु बचपन में ही हो गई थी। इसके बाद अपनी मेहनत के बल पर ओल्गा ने जैसे-तैसे अपनी पढ़ाई पूरी की। अपनी मेहनत के दम पर उन्हें स्टेकलोव इंस्टीट्यूट में पढ़ाने और रिसर्च करने का मौका भी मिला। ओल्गा उस दौर के महान गणितज्ञ रहे इवान पेट्रोव्स्की की स्टूडेंट रही थीं।

बता दें कि नेवियर-स्टोक्स समीकरण को फाइनाइट डिफरेंस मेथड से पहली बार हल करने का रिकॉर्ड ओल्गा के पास ही है। गणित और फ्लुइड डायनमिक्स में उनके कार्यों के लिए उन्हें साल 2002 में लोमोनोसोव गोल्ड मेडल से सम्मानित किया गया था। ओल्गा की मृत्यु साल 2004 में हो गई थी। उन्हें उनके काम के लिए आज कभी नहीं भुलाया जा सकता है।

  • Published Date: March 7, 2019 8:47 AM IST
  • Updated Date: March 7, 2019 9:05 AM IST