comscore Google के लिए बढ़ी परेशानी, प्राइवेसी में सेंध लगाने के खिलाफ मुकदमा दर्ज
News

Google की बढ़ी मुश्किल, प्राइवेसी में सेंध लगाने के खिलाफ मुकदमा दर्ज

Google के लोकेशन ट्रैकिंग फीचर को लेकर कंपनी के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है। 3 राज्यों और DC ने लोकेशन ट्रैकिंग को लोगों की प्राइवेसी के लिए खतरा बताया है।

  • Published: January 25, 2022 12:35 PM IST
Google

Google को इस समय एक बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। टेक्सास, इंडियाना, वाशिंगटन राज्य और डिस्ट्रिक्ट ऑफ कोलंबिया ने सोमवार यानी 24 जनवरी को Google पर मुकदमा दायर कर दिया है। इनका मानना है कि जिसे गूगल लोकेशन ट्रैकिंग मानता है, वह यूजर्स की प्राइवेसी के लिए खतरा है। आइये, पूरा मामला जानते हैं। Also Read - Google ने इन 3 खतरनाक ऐप्स को किया बैन, आपके फोन में हुआ तो हो सकता है बड़ा नुकसान

Google के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा

वाशिंगटन के डीसी अटॉर्नी जनरल कार्ल रैसीन के कार्यालय द्वारा जारी किए गए एक बयान में कहा गया कि Google ने अपने यूजर्स को झूठा विश्वास दिलाया कि उनके अकाउंट और डिवाइस की सेटिंग बदलने से यूजर्स को उनकी प्राइवेसी सुरक्षित रखने और कंपनी द्वारा एक्सेस किए जा सकने वाले पर्सनल डेटा को कंट्रोल करने की अनुमति मिल जाती है। फिर भी Google यूजर्स का व्यवस्थित रूप से सर्वे कर रहा है और ग्राहक डेटा से लाभ प्राप्त करता है। इससे यूजर्स की प्राइवेसी को खतरा है। Also Read - Google रूस में बंद करेगा बिजनेस, कंपनी के अकाउंट हुए सीज

गूगल ने अपने बचाव में कहा यह

Google के प्रवक्ता जोस कास्टानेडा ने कहा कि अटॉर्नी जनरल गलत दावों और उसकी सेटिंग्स के पुराने दावों के आधार पर यह मामला ला रहे हैं। गूगल ने हमेशा उसके प्रोडक्ट में प्राइवेसी फीचर्स बिल्ट किए हैं और लोकेशन डेटा के लिए रोबस्ट कंट्रोल दिया है। वे सख्ती से अपना बचाव करेंगे और रिकॉर्ड स्थापित करेंगे। Also Read - Google की प्राइवेट ब्राउजिंग नहीं है 'प्राइवेट', दर्ज हुआ मुकदमा

गूगल अन्य सेंटिंग से भी करता है लोकेशन को ट्रैक

टेक्सास के अटॉर्नी जनरल केन पैक्सटन ने आरोप लगाया कि जब यूजर्स इसे रोकने की कोशिश कर रहे थे तब भी Google ने यूजर्स की लोकेशन को ट्रैक करना जारी रखा। साथ ही टेक्सास ने यह भी कहा कि Google अन्य सेटिंग्स और मैथड के माध्यम से यूजर्स की लोकेशन को ट्रैक करता है। बता दें कि Google के पास Location History सेटिंग है और यूजर्स को इसे बंद करने के लिए नोटिफिकेशन मिलता है।

वाशिंगटन राज्य के अटॉर्नी जनरल बॉब फर्ग्यूसन ने कहा कि 2020 में Google ने विज्ञापन से लगभग 150 बिलियन डॉलर कमाए। फर्ग्यूसन के कार्यालय ने सोमवार को एक बयान में कहा कि लोकेशन डेटा Google के विज्ञापन व्यवसाय के लिए बहुत जरूरी है। मई 2020 में एरिजोना ने यूजर लोकेशन डेटा के कलेक्शन को लेकर Google के खिलाफ इसी तरह का एक मुकदमा दायर किया था। फिलहाल वह मुकदमा लंबित है। डेमोक्रेटिक सीनेटर रिचर्ड ब्लूमेंथल ने कहा कि इन चार अटॉर्नी जनरल द्वारा किए गए इस मुकदमे के जरिए पता चल रहा है कि तकनीकी कंपनियां यूजर्स की प्राइवेसी की रक्षा करने पर धोखा देना और मुनाफे को प्राथमिकता देना जारी रखती हैं।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: January 25, 2022 12:35 PM IST



new arrivals in india