comscore
News

केरल बाढ़ पीड़ित गूगल मैप प्लस कोड्स के जरिए शेयर कर सकेंगे लोकेशन

प्लस कोड किसी पते की तरह ही काम करता है। जब कोई पता उपलब्ध नहीं होता है तो गूगल मैप्स पर प्लस कोड के माध्यम से उस जगह को ढूंढा और साझा किया जा सकता है।

  • Published: August 19, 2018 4:01 PM IST
Google Maps smartphone location 805px

केरल के बाढ़ पीड़ित ऑफलाइन रहने के दौरान भी अपने एंड्रॉइड स्मार्टफोन या टैबलेट की मदद से अपने सटीक लोकेशन का प्लस कोड जनरेट कर उसे साझा कर सकते हैं, ताकि जहां वे फंसे हुए हैं, उसकी सटीक जानकारी मिल सके और राहत दल के लिए उन तक पहुंचना आसान हो। गूगल ने यह जानकारी दी है।
यूजर्स अपने प्लस कोड्स को वॉयस कॉल या एक एसएमएस के माध्यम से शेयर कर सकते हैं। प्लस कोड किसी पते की तरह ही काम करता है। जब कोई पता उपलब्ध नहीं होता है तो गूगल मैप्स पर प्लस कोड के माध्यम से उस जगह को ढूंढा और साझा किया जा सकता है।

केरल में उफनती नदियां और भूस्खलन के कारण 370 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और तीन लाख से ज्यादा लोग करीब 2,000 राहत शिविरों में शरण लिए हुए हैं।

  • Published Date: August 19, 2018 4:01 PM IST