comscore महिलाओं को कम सैलरी देने की वजह से Google पर लगा 923 करोड़ का जुर्माना
News

महिलाओं को कम सैलरी देने का खामियाजा भुगतेगा Google, देने होंगे 923 करोड़ रुपये

Google पर 15,500 महिला कर्मचारियों के साथ लिंग भेदभाव (Gender Discrimination) करने की वजह से $118 (लगभग 923 करोड़ रुपये) का जुर्माना लगा है। कंपनी पर इन महिला कर्मचारियों को लिंग भेदभाव की वजह से कम सैलरी देने का केस रजिस्टर्ड किया गया था, जिसपर फैसला आया है।

google (1)

Google पर 15,500 महिला कर्मचारियों के साथ लिंग भेदभाव (Gender Discrimination) करने की वजह से $118 (लगभग 923 करोड़ रुपये) का जुर्माना लगा है। कंपनी पर इन महिला कर्मचारियों को लिंग भेदभाव की वजह से कम सैलरी देने का केस रजिस्टर्ड किया गया था, जिसपर फैसला आया है। कोर्ट ने गूगल से इंडिपेंडेंट लेबल इकोनिमिस्ट रखने के लिए कहा है, जो कंपनी की हायरिंग प्रैक्टिस और पे इक्विटी की स्टडी करेंगे। Also Read - Odisha Police ने गूगल की लिखी चिट्ठी, कहा इन 45 Fake Loan Apps को तुरंत करें बंद

क्या है मामला?

Bloomberg की रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2017 में तीन महिलाओं ने Google के खिलाफ केस रजिस्टर्ड कराया था, जिसके मुताबिक, उन्हें पुरुषों की तुलना में कम सैलरी दी जा रही थी, जो कैलिफॉर्निया इक्वल पे एक्ट का उल्लंघन था। पुरुषों के मिल रही सैलरी और उनकी सैलरी में $17,000 (13.3 लाख रुपये) तक का अंतर था। Also Read - Google Chrome में इस तरह आसानी से डिलीट करें सेव हुए पासवर्ड, कार्ड डिटेल और पता

शिकायत में यह भी कहा गया था कि गूगल महिलाओं को लोअर करियर ट्रैक्स में रखता है, जिसकी वजह से उन्हें पुरुषों के मुकाबले कम सैलरी और बोनस मिल पाती है। Also Read - भई वाह! अब Google Maps बताएगा, आप साफ हवा में सांस ले रहे हैं या नहीं

हालांकि, गूगल के खिलाफ यह पहला मामला नहीं था। कंपनी को पिछले साल $2.5 मिलियन (करीब 2 करोड़ रुपये) का सेटलमेंट करना पड़ा था, जब एक अंडरपेड महिला इंजीनियर ने शिकायत दर्ज कराई थी। कैलिफॉर्निया डिपार्टमेंट ऑफ फेयर एम्प्लॉयमेंट एंड हाउसिंग (DFEH) भी कंपनी पर महिला कर्मचारियों पर चल रहे कई तरह के हरासमेंट और भेदभाव की जांच कर रहा है।

इस मामले की एक शिकायत कर्ता होली पीज (Holly Pease) ने बताया कि मैं बहुत सकारात्मक सोच रही हूं क्योंकि एक महिला जो अपना पूरा करियर टेक इंडस्ट्री को दे देती है उसे कंपनी (Google) की तरफ से एक्शन लेने के बाद सैटलमेंट राशि दी जा रही है।

21 जून को होगा सेटलमेंट

इस मामले की सुनवाई करने वाले जज ने कहा कि गूगल और महिला कर्मचारी के बीच किए जाने वाले सैटलमेंट को जज द्वारा 21 जून को अप्रूव किया जाएगा। करीब 5 साल चले मुकदमे के बाद दोनों पक्ष इस सैटलमेंट के लिए राजी हुए हैं।

The Verge को दिए एक स्टेटमेंट में Google ने बताया कि कंपनी अपने कर्मचारियों को सैलरी भुगतान करने, हायरिंग और लेवलिंग करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। इसका मतलब है अपवार्ड एडजस्टमेंट, जो पुरुष कर्मचारियों और महिला कर्मचारियों के बीच के अंतर को भरेगा।

Google ही नहीं, Microsoft, Twitter और Oracle जैसी टेक्नोलॉजी कंपनियों के खिलाफ भी इस तरह के कई मुकदमें दर्ज किए जा चुके हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, Oracle के खिलाफ भी असमान पे  ग्रेड की वजह से क्लास एक्शन लिया गया है।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: June 13, 2022 10:47 AM IST



new arrivals in india