comscore गूगल ने Wear OS के लिए Google Play Store को किया रिडिजाइन | Google redesign Play Store for Wear OS
News

गूगल ने Wear OS के लिए Google Play Store को किया रिडिजाइन

टेक दिग्गज कंपनी गूगल ने Wear OS के लिए Google Play Store को रिडिजाइन किया है, जिसके चलते अब यह थोड़ा बेहतर कार्य कर रहा है। गूगल वियर ओएस या फिर वियर ओएस को पहले एंड्रॉइड वियर के नाम से जाना जाता था। इसे अब नया डिजाइन देकर गूगल ने इसे और अधिक बेहतर करने का प्रयास किया है।

Google Play Store

टेक दिग्गज कंपनी गूगल ने Wear OS के लिए Google Play Store को रिडिजाइन किया है, जिसके चलते अब यह थोड़ा बेहतर कार्य कर रहा है। गूगल वियर ओएस या फिर वियर ओएस को पहले एंड्रॉइड वियर के नाम से जाना जाता था। इसे अब नया डिजाइन देकर गूगल ने इसे और अधिक बेहतर करने का प्रयास किया है।

रेडिट पर देखा गया है कि गूगल सभी वियर ओएस यूजर्स के लिए प्ले स्टोर अपडेट लेकर आया है। पहली नजर में, यह एक रेडिकल नया स्वरूप नहीं है, लेकिन यह बेहतर के लिए बहुत सारे बदलाव करता है। 9 टू 5 गूगल के अनुसरा, सबसे पहले पुल-डाउन मेनू को हटाया गया है, जो काफी समय से परेशान कर रहा था। पिछले डिजाइन में मेनू इंडिकेटर अक्सर सर्च बटन को कवर करता रहा है। वियर ओएस यूजर्स शायद इस अंतर को पहचान सकें। उन्हें अब छिपे हुए पुलडउन मेनू के अलावा मुख्य पेज के नीचे माई एप, अकाउंट्स और सेटिंग्स सेक्शन मिले। वियर ओएस के लिए बाकी बचा हुआ प्ले स्टोर अधिक बदला हुआ नजर नहीं आता है।

Google Play Store ने हटाएं ये खतरनाख ऐप्स

सिक्योरिटी कारणों के चलते गूगल ने अपने प्ले स्टोर से 85 ऐप्स को हटा दिया है। IANS की रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रेंड माइक्रो में सिक्योरिटी रिसर्चरों ने इन ऐप्स के अंदर विशेष रूप से परेशानी बढ़ाने वाले एडवेयर को छुपा हुआ पाया था इस जांच के सामने आने के बाद गूगल ने यह कदम उठाया है।

Trend Micro में काम कर रहे एक Mobile Threat Response (MTR) इंजीनियर Ecular Xu ने शुक्रवार को एक ब्लॉग पोस्ट में लिखा था कि, “हमें गूगल प्ले पर एडवेयर के संभावित रियल लाइफ इंपैक्ट का एक और उदाहरण मिला है। ट्रेंड माइक्रो इसे AndroidOS_Hidenad.HRXH के रूप में पहचानता है।” IANS की रिपोर्ट में आगे बताया गया है कि Xu ने यह भी कहा कि, “यह विज्ञापन प्रदर्शित करते हैं, इन्हें बंद करना मुश्किल है। यह यूजर्स के व्यवहार और समय-आधारित ट्रिगर्स के माध्यम से पहचान का पता लगाने के लिए अद्वितीय तकनीकों को नियुक्त करता है।”

Trend Micro के मुताबिक, इस तरह से प्रभावित करने वाली ज्यादातर ऐप्स में फोटोग्राफी और गेमिंग ऐप्स शामिल थी, जिन्हें आठ लाख से अधिक बार डाउनलोड किया जा चुका था। सुपर सेल्फी, कॉस कैमरा, पॉप कैमरा और वन स्ट्रोक लाइन पजल उन 85 ऐप्स में सबसे पॉप्युलर ऐप्स हैं, जिन्हें ट्रेंड माइक्रो ने एडवेयर से संक्रमित होने के रूप में खोजा था।

 

  • Published Date: November 15, 2019 3:24 PM IST