comscore FASTag Deadline Extended : फास्टैग अनिवार्य करने की समय सीमा 15 दिसंबर तक बढ़ी | BGR India Hindi
News

FASTag Deadline Extended : फास्टैग अनिवार्य करने की समय सीमा 15 दिसंबर तक बढ़ी

FASTag Deadline Extended : केंद्र सरकार ने हाइवे पर टोल कलेक्शन के लिए फास्टैग अनिवार्य करने की समय सीमा को 15 दिसंबर तक बढ़ा दिया है। जानें 'फास्टैग कैसे काम करता (How to Work FASTag) है, फास्टैग कैसे इंस्टॉल (How to install FASTag) किया जाता है, फास्टैग कैसे एक्टिवेट और रिचार्ज (FASTag Recharge and Activation) होता है।

fastag

FASTag Deadline Extended : केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय राजमार्गों पर वाहनों टोल टैक्स चुकाने के लिए फास्टैग अनिवार्य (FASTag Mandatory ) करने की समय सीमा बढ़ा कर 15 दिसंबर कर दी है। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने इससे पहले घोषणा की थी कि एक दिसंबर से राजमार्गों पर बने टोल प्लाजा पर शुल्क केवल फास्टैग के माध्यम से ही स्वीकार किया जाएगा। डिजिटल भुगतान में सहायक फास्टैग लागू करने का यह फैसला नाकों पर भीड़भाड़ और विलंब खत्म करने के लिए किया गया है।

मंत्रालय ने शुक्रवार को एक विज्ञप्ति में कहा कि लोगों को फास्टैग हासिल करने में सुविधा के लिए कुछ और वक्त देने हेतु अब शुल्क वसूली के नाकों पर 15 दिसंबर 2019 तक सभी गलियारों को ‘फास्टैग शुल्क नाका’’ घोषित कर दिया जाएगा। बुधवार तक 70 लाख फास्टैग जारी किए जा चुके हैं। 26 नवंबर को 1,35,583 टैग जारी किए गए जो एक दिन में जारी फास्टैग की अब तक की सबसे बड़ी संख्या है।

फास्टैग खाते में धन डालने के लिए बैंकों के डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेट बैंकिंग, यूनीफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई एप) में से किसी भी माध्यम को अपनाया जा सकता है। सरकार ने फास्टैग के मामलों में ग्राहकों की सहायता के लिए कस्टमर केयर नंबर 1033 की सुविधा शुरू की है। मंत्रालय ने कहा है कि फास्टैग के ग्राहक बैंकों से भी टैग प्राप्त कर सकते हैं।

फास्टैग क्या है

FASTag – रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टेक्नोलॉजी [Radio Frequency Identification (RFID)] पर बेस्ड स्टिकर है, जिसे गाड़ी के सामने वाले शीशे (windscreen) पर चिपकाया जाता है। टोल बूथ पर RFID रीडर होंगे जो इसे FASTags को स्कैन करेंगे। स्कैन करते ही आपके फास्टैग अकाउंट से पेमेंट हो जाएगी, जिसकी इंफॉर्मेशन आपको SMS के जरिए मिलेगी।

फास्टैग कहां से खरीदें

FASTags को ऑथराइज्ड बैंक Axis Bank, ICICI Bank, IDFC Bank, Syndicate Bank, SBI और HDFC Bank से खरीदा जा सकता है। इसे आप कुछ चुनिंदा पेट्रोल पंप, RTO, टोल प्लाजा और Paytm से भी खरीद सकते हैं। बता दें कि FASTag खरीदने के लिए यूजर्स के पास पहचान पत्र (ID) और एडरस प्रूफ के साथ-साथ वाहन का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC) होनी जरूरी है। नेशनल हाइवे ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) फिलहाल FASTags मुफ्त में दे रही है। एक दिसंबर के बाद इसे खरीदने के लिए यूजर्स को टैग के लिए 100 भुगतान करना होगा। Paytm या फिर बैंक टैग को खरीदने से जुड़ी जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें।

फास्टैग कैसे एक्टिवेट या रिचार्ज करें

फास्टैग को खरीदने के बाद आपको इसे एक्टिवेट करना होगा। इसके लिए आपको अपने स्मार्टफोन पर NHAI की टोल कलेक्शन के लिए बनाई FASTag ऐप इंस्टॉल करनी होगी। यहां आपको टैग के सीरीयल नंबर के साथ इसे रजिस्टर करना होगा। ऐप में मांगी गई जानकारी फिल करने के बाद यह एक्टिवेट हो जाएगा। बता दें कि एक FASTag को सिर्फ एक गाड़ी में यूज किया जा सकता है। इस ऐप के जरिए आप FASTag को रिचार्ज भी सकते हैं। ऐप पर आप अपने अकाउंट से संबंधित जानकारी भी प्राप्त कर सकते हैं।

FASTag की वैलिडिटी पांच साल तक की होगी। यूजर्स को एक बार में कम से कम 100 रुपये का रिचार्ज करना होगा। यूजर्स अधिकत 10,000 रुपये जमा कर सकते हैं। KYC किए हुए FASTag अकाउंट में 100,000 रुपये तक अपने फास्टैग अकाउंट में रख सकते हैं।

फास्टैग कैसे इंस्टॉल करें

इस टैग को यूजर्स को अपनी कार के सामने वाले शीशे पर चिपकाना होगा। बाद में कार निर्माता कंपनियां गाड़ियों में FASTag को पहले से इंस्टॉल करके देंगी।

(इनपुट पीटीआई भाषा से भी)

  • Published Date: December 2, 2019 11:39 AM IST