comscore Coronavirus वायरस से बचाव की आड़ में हैकर्स भेज रहे हैं मालवेयर अटैच फाइलें
News

Coronavirus वायरस से बचाव की आड़ में हैकर्स भेज रहे हैं मालवेयर अटैच फाइलें

चीन समेत दुनियाभर अपने आतंक की सुर्खियां बनाने वाले Coronavirus  के नाम पर अब हैकर्स नकली ईमेल भेज रहे हैं।  इन ई-मेल में  हैकर्स यूजर्स को मालवेयर अचैट कर रहे हैं। इन ईमेल को हैकर्स अस्पतालओं और मेडिकल रिसर्च टीम की आड़ में भेज रहे हैं। इन ई-मेल में  Coronavirus से बचाव संबंधित कई सारी सूचनाएं हैं।

Coronavirus Stock Photo Pixabay

Photo: Pixabay


चीन समेत दुनियाभर अपने आतंक की सुर्खियां बनाने वाले Coronavirus  के नाम पर अब हैकर्स नकली ईमेल भेज रहे हैं।  इन ई-मेल में  हैकर्स यूजर्स को मालवेयर अचैट कर रहे हैं। इन ईमेल को हैकर्स अस्पतालओं और मेडिकल रिसर्च टीम की आड़ में भेज रहे हैं। इन ई-मेल में  Coronavirus से बचाव संबंधित कई सारी सूचनाएं हैं। इन्हीं सूचनाओं के साथ यूजर्स को अटैच फाइल भेज रहे हैं। इन फाइल में PDF, MP4 या DocX टाइप भी फाइलें हो सकती है। जैसा कि हमने बताया इन फाइलों के जरिए हैकर्स मालवेयर और वायरस भेज रहे हैं। यह दावा साइबर सिक्योरिटी फर्म IBM X-Force और Kaspersky ने किया है। Also Read - Tecno फरवरी 2020 के मध्य में चार बैक कैमरे वाले 2 CAMON सीरीज के स्मार्टफोन लॉन्च करेगा

IBM X-Force और Kaspersky ने पाया है कि कई सारे यूजर्स को हैकर्स की ओर से कुछ ई-मेल भेजे जा रहे हैं जिसमें मालवेयर अटैच किए गए हैं। ये ईमेल भयानक कोरोनावायरस से बचाव और उपचार की आड़ में भेजे गए हैं। इसके साथ ही इन ईमेल में कोरोनावायरस के अटैक का पता लगाने जैसे ट्रिक्स भी बताई जा रही है। सिक्योरिट फर्म का कहना है कि उन्हें अब तक दस तरह की फाइलें देखी हैं। Also Read - OnePlus 8 सीरीज के स्मार्टफोन Amazon India की वेबसाइट पर हुए स्पॉट

साइबर सिक्योरिटी फर्म का कहना है कि आने वाले दिनों में हैकर्स द्वारा इस प्रकार ई-मेल को और भी ज्यादा तादाद में भेजेंगे। ऐसे में यूजर्स को इस प्रकार के ई-मेल में अटैच की गई फाइल्स को डाउनलोड करने में सावधानी बरतनी चाहिए। इन फाइल की आड़ में भेजे गए वायरस आपके सिस्टम और प्राइवेसी के लिए खतरा हो सकते हैं। Also Read - Realme C3 होगा रियलमी का पहला Realme UI के साथ आने वाला स्मार्टफोन

क्या है कोरोनावायरस

चीन में फैले कोरोनावयरस का पूरा नाम 2019 Novel Coronavirus (2019 नोवेल कोरोनावायरस) है। इस वायरस को 2019-nCoV नाम से भी जाना जाता है।कोरोनावयरस की पहली बार चीन के वुहान प्रांत में पहचान की गई। कोरोनावायरस इससे पहले कहीं नहीं पाया गया इस लिए इस वायरस के नाम के आगे नोवेल लगाया गया है।

कोरोनावायरस – कोरोना + वायरस से मिल कर बना है। कोरोना शब्द लैटिन का है। लैटिन में कोरोना का मतलब क्राउन होता है। कोरोना वायरस की तहत पर क्राउन जैसी संरचनाएं बनी होती है। इससे इसका नाम कोरोना पड़ा है।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें।

  • Published Date: February 3, 2020 6:54 PM IST
  • Updated Date: February 11, 2020 3:01 PM IST



new arrivals in india

Best Sellers