comscore Hike ने आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और मशीन लर्निंग प्रोग्राम के विकास के लिए IIIT-Delhi के साथ की पार्टनरशिप | BGR India
News

Hike ने आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और मशीन लर्निंग प्रोग्राम के विकास के लिए IIIT-Delhi के साथ की पार्टनरशिप

Hike दावा है कि उसके प्लेटफॉर्म पर 40 से अधिक भाषाओं में 30,000 से ज्यादा स्टिकर्स मौजूद हैं।

hike-messenger

घरेलू मेसेजिंग एप हाइक ने देश में आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (AI) और मशीन लर्निंग के विकास के लिए इंद्रप्रस्थ सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली (आईआईआईटी-दिल्ली) के साथ साझेदारी की है। हाइक ने बयान में कहा कि यह साझेदारी उसके भारतीय विश्वविद्यालयों और शोध संस्थानों में अनुसंधान को बढ़ावा देने के लक्ष्य के अनुरूप है। हाइक के उपाध्यक्ष (परिचालन) अंशुमान मिश्रा ने कहा कि अनुसंधान के लिए इस साझेदारी के साथ हम देश के शिक्षा जगत को आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और मशीन लर्निंग जैसे क्षेत्र में शोध को आगे बढ़ावा देने में मदद करना चाहते हैं।

Hike फिलहाल एक बड़े प्रोजेक्ट – AI & ML इनेबल्ड स्टिकर्स पर काम कर रही है। हाइक स्टिकर चैट पर आधारित मैसेंजिंग एप पर काम कर रहा है। कंपनी का दावा है कि उसके प्लेटफॉर्म पर 30,000 से ज्यादा स्टिकर्स हैं। इसके साथ ही इसमें 40 से अधिक भाषाओं पर स्टिकर्स हैं। कंपनी का लक्ष्य इस साल के अंत तक स्टिकर्स की संख्या 100,000 से ज्यादा करने पर है। Hike हर मौके के लिए अपने प्लेटफॉर्म पर स्टिकर तैयार करता है। देश में चल रहे लोक सभा चुनाव को मद्देनजर रखते हुए हाइक ने बीते महीने कुछ शानदार स्टिकर अपने प्लेटफॉर्म पर लॉन्च किए थे।

Hike मैसेंजिंग ऐप में स्टिकर्स फीचर ने इसे युवाओं के बीच काफी लोकप्रिय बनाया है। Hike के स्टिकर फीचर के लोकप्रियता को देखते हुए दूसरे मैसेंजिंग एप जैसे WhatsApp और Facebook मैसेंजर ने भी अपने प्लेटफॉर्म पर स्टिकर्स फीचर को एड किया है। लेकिन इनके स्टिकर फीचर को उतनी लोकप्रियता नहीं मिली जितनी की Hike को मिली है।

  • Published Date: May 6, 2019 4:38 PM IST