comscore
News

हिंदी दिवस 2018: टेक्नोलॉजी के बीच भी दम साधे खड़ी है हिंदी

हिंदी का अपना समृद्ध इतिहास है। विरासत है। एक ऐसी विरासत, अंग्रेजी का विस्तार जिसे समेट न सका।

HINDI DIWAS

आज हिंदी दिवस है। हिंदी का अपना समृद्ध इतिहास है। विरासत है। एक ऐसी विरासत, अंग्रेजी का विस्तार जिसे समेट न सका। बल्कि अंग्रेजी के कई शब्दों को हिंदी ने अपने में आत्मसात कर उन्हें भी हिंदी का बना दिया! हिंदी लगातार बढ़ रही है। युवाओं के बीच लोकप्रिय हो रही है। सोशल मीडिया से लेकर स्मार्टफोन, व्हॉट्सएप से लेकर फेसबुक, इंस्टाग्राम और लिंक्डइन पर हिंदी, दिलों पर राज कर रही है।

स्मार्टफोन ने बढ़ाया हिंदी का प्रचलन
टेक्नोलॉजी हिंदी के लिए कभी भी बाधा नहीं बनी। हालांकि, शुरुआती दौर पर इस तरह का अंदेशा जरूर जताया गया था। लेकिन, आज कंप्यूटर से लेकर स्मार्टफोन पर हिंदी में काम करना न सिर्फ आसान हो गया है, बल्कि काफी लोकप्रिय भी हो रहा है। स्मार्टफोन ने हिंदी का प्रचलन बढ़ाया है। आज मोबाइल फोन में हिंदी में संदेश टाइप करने वालों की संख्या में इजाफा आया है।

सोशल मीडिया ने दी हिंदी को ताकत
सोशल मीडिया ने हिंदी को ताकत दी है। सोशल मीडिया पर संवाद का जरिए हिंदी बना है। एक दूसरे को मैसेज और संदेश भेजने के लिए हिंदी टाइपिंग का खूब इस्तेमाल होता है। हिंदी ने टेक्नोलॉजी के दिग्गजों को भी नतमस्तक होने पर मंजूर कर दिया है। आज गूगल से लेकर अमेजन जैसी बड़ी कंपनियों को हिंदी में अपनी सर्विस देने पर मजबूर होना पड़ा है। हाल ही में अमेरिका की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन ने भारत में हिंदी सर्विस की शुरुआत की है। यह हिंदी की ताकत है कि गूगल को अपनी तमाम सेवाओं को अंग्रेजी के साथ ही हिंदी में भी लाने पर मजबूर होना पड़ा है। हालांकि, इसमें कंपनियों का व्यवसायिक पक्ष भी शामिल है।

  • Published Date: September 14, 2018 2:07 PM IST
  • Updated Date: September 14, 2018 2:15 PM IST