comscore Coronavirus से भारत में कैसे बढ़ जाएंगे मोबाइल, AC, TV और फ्रिज की कीमतें? | BGR India Hindi
News

Coronavirus से भारत में कैसे बढ़ जाएंगे मोबाइल, AC, TV और फ्रिज की कीमतें?

Coronavirus (कोरोना वायरस) का असर चीन में काफी तेजी से बढ़ रहा है। हालांकि ग्लोबल लेवल पर अभी तक इस बीमारी का ज्यादा असर देखने को नहीं मिला है, लेकिन जल्द ही इस वायरस का असर आपकी पॉकेट पर भी पड़ सकता है। भले ही भारत में अभी तक कोरोना वायरस के ज्यादा मामले सामने नहीं आए हैं, लेकिन इससे चीन की अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ सकता है, जिससे आप भी अछूते नहीं रहेंगे। चीन एक मैन्युफैक्चरिंग हब है और यहां ज्यादातर कंपनियों की मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी है। कोरोना वायरस के चलते इन फैसिलिटी पर असर पड़ा है। इससे प्रॉडक्शन भी कम हो गया है।   

smartphone 4

Coronavirus (कोरोना वायरस) का असर चीन में काफी तेजी से बढ़ रहा है। हालांकि ग्लोबल लेवल पर अभी तक इस बीमारी का ज्यादा असर देखने को नहीं मिला है, लेकिन जल्द ही इस वायरस का असर आपकी पॉकेट पर भी पड़ सकता है। भले ही भारत में अभी तक कोरोना वायरस के ज्यादा मामले सामने नहीं आए हैं, लेकिन इससे चीन की अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ सकता है, जिससे आप भी अछूते नहीं रहेंगे। चीन एक मैन्युफैक्चरिंग हब है और यहां ज्यादातर कंपनियों की मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी है। कोरोना वायरस के चलते इन फैसिलिटी पर असर पड़ा है। इससे प्रॉडक्शन भी कम हो गया है।
ऐसे में अगर आप टीवी , एयर कंडीशनर (AC), रेफ्रिजरेटर (Refrigerator) या स्मार्टफोन खरीदने की सोच रहे हैं तो आने वाले दिनों में इसकी कीमतों में इजाफा हो सकता है। इसकी वजह यह है क्योंकि ज्यादातर प्रॉडक्ट्स चीन से इंपोर्ट होते हैं। इंडस्ट्री एक्सपर्ट के मुताबित आने वाले समय में ऐसे प्रॉडक्ट्स की कीमतों में 3 से पांच प्रतिशत तक की कमी आ सकती है।


एप्पल इनसाइडर की रिपोर्ट के मुताबिक वुहान में फॉक्सकॉन की फैसिलिटी में इस वायरस के जरिए कामकाज प्रभावित हो सकता है। इससे कंपनी के प्रॉडक्शन पर भी असर हो सकता है, जिसका सीधा असर कंपनी के लॉन्ग टर्म बिजनेस पर पड़ेगा। ताइवान की मल्टीनेशनल इलेक्ट्रॉनिक कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरिंग कंपनी फॉक्सकॉन ने अपने कर्मचारियों को घर में ही रहने की हिदायत दी है। इसके अलावा कंपनी ने अपनी फैक्ट्री में भी कर्मचारियों की स्वास्थय निगरानी को बढ़ा दिया है। कंपनी ने अपने कर्मचारियों को फेस मास्क दिए हैं और इन्हें इस वायरस से बचने के लिए फेस मास्क पहनने की हिदायत भी दी है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार, कोरोनावायरस के मरीज को जुकाम के साथ-साथ बुखार और थकान, सूखी खांसी और सांस लेने में परेशानी होती है। डब्ल्यूएचओ ने अभी तक इसे अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य आपातकाल घोषित नहीं किया है। चीन, हांगकांग, ताइवान और मकाऊ के बाहर थाईलैंड, ऑस्ट्रेलिया, सिंगापुर, अमेरिका, जापान, मलेशिया, दक्षिण कोरिया, फ्रांस, वियतनाम, कनाडा, आइवरी कोस्ट और नेपाल में कोरोनावायरस के मामलों की पुष्टि हुई है।

 

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें।

  • Published Date: February 20, 2020 3:39 PM IST