comscore Chandrayaan-2 Launch Live Stream: Mobile और PC पर ऐसे देखें लाइव
News

Chandrayaan-2 Launch Live Stream: 976 करोड़ रुपये के इस मिशन को Mobile और PC पर ऐसे देखें लाइव

Chandrayaan-2 Launch Live Stream:  इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन (ISRO) का Chandrayaan-2 मिशन आज 22 जुलाई 2019 को दोपहर 2 बजकर 43 मिनट पर श्रीहरिकोटा के सतीश धवन सेंटर से लॉन्च किया जाएगा। आप दूरदर्शन के ऑफिशियल चैनल 'Doordarshan National' को यूट्यूब पर जाकर इस इवेंट की लाइवस्ट्रीमिंग देख सकते हैं। ISRO अपने ट्विटर हैंडल और फेसबुक पेज पर भी इस मिशन के लॉन्च की लाइव स्ट्रीमिंग करेगा।

isro-pslv-c40

Chandrayaan-2 Launch Live Stream:  इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन (ISRO) का Chandrayaan-2 मिशन आज 22 जुलाई 2019 को दोपहर 2 बजकर 43 मिनट पर श्रीहरिकोटा के सतीश धवन सेंटर से लॉन्च किया जाएगा। इससे पहले इस मिशन को 15 जुलाई को लॉन्च किया जाना था, लेकिन कुछ तकनीकी खामियों के चलते तब इसे लॉन्च नहीं किया जा सका था। हालांकि इस तकनीकी दिक्कत को दूर कर लिया गया है और आज दोपहर 2.43pm पर इसे लॉन्च किया जाएगा।
इसे भारत के सबसे शाक्तिशाली Mark III (GSLV-Mk III) रॉकेट से लॉन्च किया जाएगा। आप इस इवेंट को लाइव भी देख सकते हैं। इसका लाइव प्रसारण अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर भी लाइव देखा जा सकता है। हम आपको यहां उसी के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

How to watch Chandrayaan-2 Launch Live Stream:

अगर आप इस इवेंट को लाइव देखना चाहते हैं तो आपके पास बहुत ऑप्शन हैं। आप दूरदर्शन के ऑफिशियल चैनल ‘Doordarshan National’ को यूट्यूब पर जाकर इस इवेंट की लाइवस्ट्रीमिंग देख सकते हैं। वहीं आप इसे दूरदर्शन के चैनल पर भी लाइव देख सकते हैं। इसके अलावा ISRO अपने ट्विटर हैंडल और फेसबुक पेज पर भी इस मिशन के लॉन्च की लाइव स्ट्रीमिंग करेगा। यह लाइव स्ट्रीमिंग दोपहर 2 बजे शुरू हो जाएगी।

इससे पहले 11 साल पहले ISRO ने अपने पहले  चंद्रयान-1 का सफल परीक्षण किया था। इससे पहले 15 जुलाई को मिशन के प्रक्षेपण से 56 मिनट 24 सेकंड पहले मिशन नियंत्रण कक्ष से घोषणा के बाद रात 1.55 बजे रोक दिया गया था। इस मिशन के लिए 976 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। इस मिशन के बाद भारत चांद पर उतरने वाला चौथा देश बन जाएगा। इससे पहले अमेरिका, चीन और रूस चंद्रमा पर सफलतापूर्वक लैंडिग कर चुके हैं। ISRO के वैज्ञानिकों इस मिशन के लिए पिछले एक दशक से काम कर रहे हैं और अगर यह सफल रहता है तो भारत के लिए यह एक एतिहासिल पल होगा।

  • Published Date: July 22, 2019 9:19 AM IST