comscore जांच के दायरे में Vivo, ZTE समेत कई चीनी कंपनियां, बड़े फर्जीवाड़े की आशंका
News

जांच एजेंसी के निशाने पर Vivo और ZTE समेत कई चीनी कंपनियां, बड़े फर्जीवाड़े की आशंका

केन्द्र सरकार की कॉर्पोरेट मिनिस्ट्री ने Vivo, ZTE समेत कई चीनी कंपनियों के 500 से ज्यादा अकाउंट्स चेक करने का फैसला किया है। जांच एजेंसी को वीवो समेत कई चीनी कंपनियों द्वारा किए जाने वाली बड़े फर्जीवाड़े की आशंका है।

Vivo-Logo

Vivo और ZTE समेत कई चीनी कंपनियों के भारतीय यूनिट्स जांच के दायरे में हैं। केन्द्र सरकार की कॉर्पोरेट अफेयर्स मंत्रालय को किसी अनाम सोर्स के जरिए चीनी कंपनियों द्वार की जा रही वित्तीय गड़बड़ी और फर्जीवाड़े की सूचना मिली है। जिसके बाद मिनिस्ट्री ऑफ कार्पोरेट अफेयर्स ने इन चीनी कंपनियों के भारतीय यूनिट्स के अकाउंट्स की जांच करने का फैसला किया है। Also Read - नहीं बैन होंगे 12 हजार रुपये से कम कीमत के चीनी स्मार्टफोन, नई रिपोर्ट का दावा

Bloomberg की रिपोर्ट के मुताबिक, अनाम सोर्स के मिले डॉक्यूमेंट में कहा गया है कि Vivo के अकाउंट्स की अप्रैल में जांच की गई थी, जिसमें ऑनरशिप समेत कई तरह की वित्तिय गड़बड़ियां और फर्जीवाड़े का पता चला है। वहीं, एक और चीनी कंपनी ZTE के लिए ऑथोरिटीज से अर्जेन्ट बेसिस पर फाइंडिंग यानी रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है। Also Read - Vivo V25 Pro का फर्स्ट लुक रिवील, Flipkart पर होगा खरीद के लिए उपलब्ध

इससे पहले भी केन्द्र सरकार की जांच एजेंसी ED ने चीनी स्मार्टफोन मेकर Xiaomi से वित्तीय गड़बड़ियों की वजह से 5551 करोड़ रुपये जब्त किए थे। Xiaomi के अलावा केन्द्र सरकार ने 2020 से लेकर अब तक 500 से ज्यादा चीनी कंपनियों के अकाउंट्स की जांच की है। इन कंपनियों में ZTE, Vivo, OPPO, Huawei Technologies, Alibaba Group की कई भारतीय यूनिट्स आदि शामिल हैं। Also Read - OPPO, Vivo, Xiaomi की कस्टम ड्यूटी चोरी पर ऐक्शन, सरकार ने भेजे नोटिस

कॉर्पोरेट मंत्रालय ने चीनी कंपनियों के भारतीय यूनिट्स के डायरेक्टर्स, शेयरहोल्डर्स, बेनिफिशिरी और ऑनर्स आदि की डिटेल मांगी है। रिपोर्ट के मुताबिक, इन कंपनियों की हो रही जांच की रिपोर्ट जुलाई तक आ सकती है। जुलाई में जांच रिपोर्ट आने के बाद कॉर्पोरेट मिनिस्ट्री यह तय करेगी की इन चीनी कंपनियों पर किस तरह की कार्रवाई की जाए।

चीनी कंपनियों पर बड़ी कार्रवाई

मौजूदा नरेन्द्र मोदी सरकार चीनी कंपनियों के खिलाफ कड़े कदम उठा रही है। जून 2020 से लेकर अब तक 200 से ज्यादा चीनी ऐप्स को भारत में बैन किया जा चुका है। इन ऐप्स द्वारा भारत सरकार के IT Act 2000 के आर्टिकल 69A का उल्लंघन किया जा रहा था, जो देश की संप्रभुता के लिए खतरा था। यही नहीं, ये ऐप्स भारतीय यूजर्स के डेटा को चीन में स्टोर कर रहे थे।

जिन चीनी ऐप्स को भारत में बैन किया गया उनमें चीनी शॉर्ट वीडियो प्लेटफॉर्म TikTok, PUBG Mobile, PUBG, CamScanner समेत कई लोकप्रिय ऐप्स शामिल हैं। वहीं, सरकार ने भारतीय बाजार में सबसे बड़ा मार्केट शेयर रखने वाली कंपनी Xiaomi द्वारा फॉरेन एक्सचेंज नियमों के उल्लंघन की वजह से ED ने करोड़ों रुपये सीज किए हैं।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: May 31, 2022 9:23 AM IST



new arrivals in india