comscore भारत सरकार ने बंद किए फेक न्यूज फैलाने वाले 94 यूट्यूब चैनल्स, कई URLs को भी किया ब्लॉक
News

भारत सरकार ने बंद किए फेक न्यूज फैलाने वाले 94 यूट्यूब चैनल्स, कई URLs को भी किया ब्लॉक

भारत के सूचना एंव प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने जानकारी दी है कि भारत सरकार ने फेक न्यूज फैलाने वाले बहुत सारे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स को ब्लॉक कर दिया है। आइए हम आपको इस खबर के बारे में पूरी जानकारी देते हैं।

youtubereuters

भारत के सूचना एंव प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने गुरुवार यानी 21 जुलाई को दिए गए अपने एक बयान में कहा कि भारत सरकार ने 94 यूट्यूब चैनल्स को ब्लॉक कर दिया है। इसके अलावा सरकार ने 16 सोशल मीडिया अकाउंट्स और 747 यूआरएल्स यानी यूनिफॉर्म रिसोर्स लोकेटर्स को भी ब्लॉक कर दिया है। इन सभी चीजों को 2021-22 के दौरान फेक न्यूज फैलाने की वजह से ब्लॉक किया गया है। Also Read - आ गया YouTube से कमाई करने का नया तरीका, क्रिएटर के साथ यूजर भी होंगे खुश

भारत सरकार ने की बड़ी कार्यवाई

राज्य सभा में एक सवाल का जवाब देते हुए सूचना एंव प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि इंफोर्मेशन टेक्नोलॉजी एक्ट 2000 के सेक्शन 69ए के तहत सरकार ने यह एक्शन लिया है। केंद्रीय मंत्री ने अपने बयान में आगे कहा कि भारत सरकार देश में इंटरनेट के जरिए गलत खबरों को फैलाने, अफवाहों को फैलाने, और देश की एकता के साथ खिलवाड़ करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाई कर रही है। Also Read - YouTube से ज्यादा TikTok देखने में 'बिजी' बच्चे, नई रिसर्च में खुलासा

कोविड-19 में किया फैक्ट चेक टीम का इस्तेमाल

ठाकुर ने कहा कि COVID-19 से संबंधित फर्जी खबरों के प्रसार को रोकने के लिए, 31 मार्च, 2020 को प्रेस इंफोर्मेशन ब्यूरो (PIB) की फैक्ट चेकिंग टीम ने एक स्पेशल सेल बनाया था, जिसके जरिए लोग कोविड से जुड़ी सही जानकारी हासिल कर सके और उसे वेरिफाई भी कर सके। Also Read - YouTube के नए फीचर्स बढ़ाएंगे जालसाजों की मुश्किल, जानें क्या होगा खास

फेक न्यूज फैलाने वालों के खिलाफ सरकार सख्त

केंद्रीय मंत्री के मुताबिक इस स्पेशल टीम ने 34,125 योग्य सवालों के जवाब दिए और लोगों को सही सूचना पाने में मदद की है। ठाकुर ने कहा, पीआईबी ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर फर्जी खबरों और 875 पोस्ट का भी भंडाफोड़ किया है। आईबी मिनिस्टर ने दावा किया है कि भारत सरकार एक नया आईटी रूल बनाने वाली है, जिससे फेक न्यूज को फैलने से रोका जा सकेगा और फैलाने वालों को पकड़ा भी जा सकेगा।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: July 21, 2022 9:28 PM IST



new arrivals in india