comscore चीनी ऐप्स के बाद अब चीनी फोन्स पर भारत सरकार की नजर, ला सकती है यह नियम
News

चीनी ऐप्स के बाद अब चीन के स्मार्टफोन पर भारत सरकार की नजर, लागू कर सकती है यह अहम नियम

भारत सरकार चीनी कंपनियों के स्मार्टफोन और उसमें इंस्टॉल ऐप्स पर खास नजर रखने के लिए कुछ अहम नियम लागू करने पर विचार कर रही है।

  • Published: October 20, 2021 12:16 PM IST
smartphone

चीनी ऐप के बाद अब भारत सरकार की नजर चीन के बनाए हुए फोन्स पर है। भारत सरकार एक नया नियम लागू कर सकती है। यह नियम स्मार्टफोन की टेस्टिंग के लिए होगा ताकि यह पता लगाया जा सके कि चीनी कंपनियों द्वारा बनाए गए फोन और उसमें इंस्टॉल ऐप देश के नागरिकों की जासूसी तो नहीं कर रहे हैं। Also Read - AMOLED स्क्रीन और GPS जैसे फीचर्स के साथ लॉन्च हुई Huawei Watch Fit: जानें कीमत और खासियत

भारत सरकार यह नए नियम लाने पर कर रही विचार

ऐसा पहली बार नहीं है जब सरकार ऐसा कोई कदम उठाने पर विचार कर रही है। इससे पहली भी भारत सरकार ने देश में 200 से भी अधिक चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाया था। इसका मुख्य कारण चीन और भारत के बीच सीमा पर चल रहा विवाद था। सरकार साइबर स्नूपिंग की जांच के लिए विश्वसनीय टेलिकॉम इक्विपमेंट और नेटवर्किंग प्रोडक्ट्स की एक सूची तैयार कर रही है। सरकार के इस कदम को भारत-चीन सीमा पर चीनी आक्रमण के प्रतिशोध के रूप में भी देखा जा रहा है। सरकार के ओर से आने वाले नियमों के तहत फोन्स के सारे पार्ट्स और इन-डेप्थ टेस्टिंग होना अनिवार्य किया जा सकता है। Also Read - WhatsApp आज से इन स्मार्टफोन और iPhone में नहीं करेगा काम, कहीं आपका फोन भी तो नहीं है लिस्ट में शामिल

चीनी कंपनियों पर दिया जाएगा अधिक ध्यान

ET की रिपोर्ट के अनुसार, अगर यह नियम लागू होता है तो चीनी मोबाइल कंपनियों पर अधिक ध्यान दिया जाएगा। यह रेगुलेशन Huawei और ZTE जैसी कई बड़ी कंपनियों को टेलिकॉम नेटवर्किंग के संवेदनशील क्षेत्रों से दूर करने के लिए लाया जा सकता है। साथ ही इससे डाटा को भी सुरक्षित रखा जा सकेगा। इसके साथ ही सरकार उन देशों के लिए भी खास नियम ला सकती है, जिनसे भारत की सीमाएं मिलती हैं। Also Read - Huawei P50 सीरीज हुई लॉन्च, Snapdragon 888 के साथ मिलेगा Kirin 9000 चिप का ऑप्शन

ऐप्स की भी होगी जांच

हार्डवेयर के अलावा फोन में पहले से ही इंस्टॉल ऐप्स भी नए नियम के तहत जांच के दायरे में आ सकते हैं। रिपोर्ट के अनुसार, उद्योग निकाय अन्य सरकारी निकायों के बीच प्रधान मंत्री कार्यालय और उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग के साथ कोऑर्डिनेट कर रहे हैं। बता दें कि पिछले साल जून में पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में दोनों देशों के बीच सीमा पर चल रहे विवाद के बाद भारत में चीनी उत्पादों का बहिष्कार करना शुरू किया गया था।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: October 20, 2021 12:16 PM IST



new arrivals in india

Best Sellers