comscore भारतीय रॉकेट ने दक्षिण एशिया उपग्रह के साथ भरी उड़ान | BGR India
News

भारतीय रॉकेट ने दक्षिण एशिया उपग्रह के साथ भरी उड़ान

भारतीय रॉकेट ने दो टन वजनी दक्षिण एशियाई उपग्रह के साथ शुक्रवार शाम श्रीहरिकोटा से अंतरिक्ष के लिए उड़ान भरी।

  • Published: May 6, 2017 9:48 AM IST
isro-logo

भारतीय रॉकेट ने दो टन वजनी दक्षिण एशियाई उपग्रह के साथ शुक्रवार शाम श्रीहरिकोटा से अंतरिक्ष के लिए उड़ान भरी। आंध्र प्रदेश स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के दूसरे प्रक्षेपण मंच से भूस्थैतिक उपग्रह प्रक्षेपण यान (जीएसएलवी-एफ09) ने ठीक शाम 4.57 बजे अंतरिक्ष की तरफ प्रस्थान किया।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दक्षिण एशिया उपग्रह को सफलतापूर्वक छोड़े जाने पर इसरो के इंजीनियरों और वैज्ञानिकों को शुक्रवार को बधाई दी और कहा कि यह उपग्रह सहयोग के नए फलक खोलेगा।

इसे भी देखें: इसरो ने लॉन्च की सौर ऊर्जा से चलने वाली हाइब्रिड इलेक्ट्रिक कार

सोनिया ने कहा, “यह हमारे पड़ोसियों के साथ ऐतिहासिक संबंधों को मजबूत करेगा, प्रौद्योगिकी व संचार में सहयोग के नए फलक खोलेगा।”कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इस उपग्रह के लांच के लिए इसरो के वैज्ञानिकों को बधाई दी।

इसे भी देखें: 4 गजब के कैमरों के साथ लॉन्च किया जा सकता है जियोनी S10 स्मार्टफ़ोन

राहुल ने एक ट्वीट में कहा, “दक्षिण एशिया उपग्रह के लांच पर इसरो को बधाई। हरेक मील का पत्थर हमारे वैज्ञानिकों की अपूर्व प्रतिभा से हमें गौरवान्वित करता है।”

इसे भी देखें: वनप्लस 5 के स्पेसिफिकेशन हुए लीक; ड्यूल रियर कैमरा और 3,600एमएएच बैटरी के साथ हो सकता है लॉन्च

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने दक्षिण एशिया उपग्रह छोड़ने के लिए शुक्रवार को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) को बधाई दी, और कहा कि क्षेत्रीय सहयोग का एक नया युग शुरू हो गया है।

राजनाथ ने ट्वीट किया, “दक्षिण एशिया उपग्रह के सफल प्रक्षेपण पर इसरो की टीम को बधाई। अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी में क्षेत्रीय सहयोग का एक नया युग शुरू हो गया है।”

  • Published Date: May 6, 2017 9:48 AM IST