comscore
News

उर्दू की महान लेखिका Ismat Chughtai की याद में गूगल ने बनाया डूडल

Ismat Chughtai का जन्म उत्तर प्रदेश के बदायूं में हुआ था।

ismat-chughtai-google-doodle

सर्च इंजन गूगल ने मंगलवार को Ismat Chughtai की 107वीं बर्थ एनिवर्सरी पर उनकी याद में डूडल बनाया है। वह एक जानी-मानी उर्दू की राइटर थीं। उनका जन्म उत्तर प्रदेश के बदायूं में Nusrat Khanam और Mirza Qaseem Baig Chughtai के यहां हुआ था।

हालांकि Ismat Chughtai के जन्म को लेकर कहा जाता है कि उनका जन्म 15 अगस्त 1915 को हुआ था। वहीं कुछ का कहना है कि उनका जन्म उसी साल 21 अगस्त को हुआ था। लेकिन गूगल ने आज के दिन उनके 107वें बर्थडे को लेकर डूडल बनाया है।

Ismat Chughtai कुछ समय बाद भारतीय साहित्य की अवाज बनी थीं। उन्होंने उन बातों पर लिखा, जिन्हें लेकर समाज में लोग बात करने से हिचकते थे। उन्होंने फीमेल सेक्शूऐलिटी, फेमिनिस्ट और मिडल-क्लास वर्ग पर लिखा।

Chughtai ने 20वीं शताब्दी में उर्दू साहित्य के क्षेत्र में अपनी अलग पहचान बनाई। इसके अलावा वर्ष 1976 में भारत सरकार द्वारा उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया।

Ismat Chughtai को पद्मश्री का सम्मान साहित्य में एक विशेष योगदान के लिए मिला था। उनके द्वारा लिखी गई टेढ़ी लकीर, अंगारे, लिहाफ, और छुई -मुई शार्ट स्टोरी काफी फेमस हुईं थीं। उन्होंने मुंबई में वर्ष 1991 में आखिरी सांस ली थी।

  • Published Date: August 21, 2018 9:33 AM IST