comscore हुवावे को 5G से बाहर रखने पर भारतीय कंपनियों, ग्राहकों को होगा नुकसान: सीईओ
News

हुवावे को 5G से बाहर रखने पर भारतीय कंपनियों, ग्राहकों को होगा नुकसान: सीईओ

चीन की दूरसंचार उपकरण बनाने वाली प्रमुख कंपनी हुवावे ने कहा कि भारत में 5G प्रौद्योगिकी दायरे से उसे बाहर रखने का नुकसान यहां की दूरसंचार कंपनियों, उपभोक्ताओं और इससे जुड़े अन्य उन उद्योगों को होगा जो इससे फायदा उठा सकते हैं।

  • Published: October 14, 2019 5:10 PM IST
Huawei Stock Photo MWC Huawei Ban

चीन की दूरसंचार उपकरण बनाने वाली प्रमुख कंपनी हुवावे ने कहा कि भारत में 5G प्रौद्योगिकी दायरे से उसे बाहर रखने का नुकसान यहां की दूरसंचार कंपनियों, उपभोक्ताओं और इससे जुड़े अन्य उन उद्योगों को होगा जो इससे फायदा उठा सकते हैं।

हुवावे इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जे चेन ने पीटीआई-भाषा से कहा कि कंपनी भू-राजनैतिक विवाद में नहीं फंसना चाहती और वह स्थानीय कानूनों के पालन को लेकर पूरी तरह प्रतिबद्ध है। कंपनी अपनी प्रौद्योगिकी के दम पर आगे बढ़ना चाहती है।

हुवावे का यह बयान इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि अमेरिका ने राष्ट्रीय सुरक्षा का हवाला देते हुए कंपनी पर प्रतिबंध लगा दिया है और अब वह अपने सहयोगी देशों से कह रहा है कि वे भी हुवावेई से दूर रहें। हुवावे दुनिया की सबसे बड़ी नेटवर्क उपकरण बनाने और दूसरी सबसे बड़ी स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी है।

चेन ने कहा कि ‘अब यह एक स्वीकार किया जा चुका तथ्य है कि हुवावे की प्रौद्योगिकी दूरसंचार उद्योग से बहुत आगे है और 5G की दौड़ में कंपनी सबसे आगे है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ ऐसे में हमें (कंपनी) इस मैदान से बाहर रखना भारतीय दूरसंचार सेवाप्रदाताओं, सहयोगी उद्योगों और अंतिम उपभोक्ता के लिए नुकसानदायक होगा। हमें भरोसा है कि भारत सरकार इस मामले में एक निष्पक्ष और स्वतंत्र निर्णय लेगी। वह सभी कंपनियों को समान अवसर उपलब्ध कराएगी जो कि नीति, मानक और प्रक्रियाओं पर आधारित होंगे। इस मामले में किसी कंपनी के मूल देश और बिना सबूत वाली अटकलबाजियों को आधार नहीं बनाया जाना चाहिये।’’

चीन की दूरसंचार उपकरण बनाने वाली हुवावेई और जेडटीई को हाल ही में भारतीय मोबाइल कांग्रेस (आईएमसी) में अपनी प्रौद्योगिकी प्रदर्शित करने के लिए तीन दिन की अनुमति मिली है। दूरसंचार विभाग ने इस अनुमति के साथ ही सभी को समान अवसर उपलब्ध कराने की बात भी कही है। इसके बाद से हुवावेई को भारत सरकार के निर्णय को लेकर आशा की किरण नजर आ रही है। कंपनी को उम्मीद है कि उसे भारत में 5जी के परीक्षण में भाग लेने की अनुमति मिलेगी।

  • Published Date: October 14, 2019 5:10 PM IST