comscore
News

महाराष्ट्र बोर्ड ने दी iPad से 12वीं का एग्जाम लिखने की अनुमति

महाराष्ट्र स्टेट बोर्ड इससे पहले भी बोर्ड में कंप्यूटर से एग्जाम लिखने की अनुमति दे चुका है।

apple-ipad-2018-review-bgr-1

टेक्नोलॉजी ने धीरे-धीरे हमारी जिंदगी के हर कोने में जगह बना ली है। टेक्नोलॉजी के पास आज हमारी लगभग हर परेशानी का हल है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, महाराष्ट्र स्टेट बोर्ड ने अभूतपूर्व कदम उठाते हुए मुंबई की एक दिव्यांग छात्रा निष्का हसंगडी को iPad से 12वीं की परीक्षा लिखने की छूट दी है। निष्का मुंबई के सोफिया कॉलेज की स्टूडेंट हैं। निष्का मूवमेंट डिसॉडर से पीड़ित हैं और वे बोल पाने में भी असमर्थ है। जिसके बाद बोर्ड ने उन्हें आई पैड पर उत्तर लिखने की अनुमति दी है। इसके बाद परीक्षा में उनका राइटर उनके आंसर सीट में लिखेगा।

ऐसा नहीं है कि निष्का पहली बार iPad की मदद से परीक्षा देंगी। रिपोर्ट के मुताबिक, उन्होंनें दसवीं की परीक्षा भी ऐसे ही दी थी। निष्का ने दसवीं की परीक्षा दिल्ली स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग (NIOS) के पास की है।

निष्का का दायां हाथ काम नहीं करता है लेकिन बाएं हाथ से वे तेजी से आईपैड पर लिखती हैं। जिसके बाद उनका राइटर उनके आंसर को सीट में लिखता है। रिपोर्ट के मुताबिक, जब निष्का आठ साल की थी तब उसकी आवाज चली गई थी और धीरे-धीरे उसके दाएं हाथ ने काम करना बंद कर दिया था।

निष्का की मां राशि ने बताया कि NIOS से दसवीं पास करने के बाद मुंबई स्थित सोफिया कॉलेज ने उन्हें 11वीं की परीक्षा में डिवाइस यूज करने की अनुमति दी थी। सोफिया कॉलेज की वाइस प्रिंसिपल ने बताया कि निष्का काफी ब्राइट स्टूडेंट हैं इसलिए वो जो डिजर्व करती हैं उसके लिए स्कूल के हाथ में जो कुछ है वे करेंगे।

इसके बाद स्कूल में बोर्ड को निष्का के बारे में बताया और महाराष्ट्र बोर्ड भी परीक्षा के दौरान आईपैड यूज करने की अनुमति देने को राजी हो गया। इससे पहले महाराष्ट्र बोर्ड ने पिछले साल एक स्टूडेंट को कंप्यूटर के साथ परीक्षा में शामिल होने की अनुमति दी थी।

  • Published Date: February 21, 2019 4:16 PM IST