comscore Facebook Messenger और Instagram को यह फीचर मिलने में देरी, जानें कारण
News

WhatsApp के इस फीचर के लिए Facebook Messenger और Instagram यूजर्स को करना होगा थोड़ा और इंतजार, जानें देरी का कारण

WhatsApp की तरह ही Facebook Messenger और Instagram में भी E2EE फीचर मिलेगा। हालांकि, इसके लिए अभी यूजर्स को थोड़ा और इंतजार करना होगा। अब यह 2023 में आएगा।

  • Published: November 23, 2021 11:48 AM IST
Instagram

Facebook Messenger और Instagram यूजर्स को मैसेज एन्क्रिप्शन फीचर की सुविधा के लिए अभी थोड़ा और इंतजार करना होगा। WhatsApp में यह फीचर पहले से ही उपलब्ध है और काफी लंबे से फेसबुक मैसेंजर और इंस्टाग्राम के लिए इसका इंतजार किया जा रहा है। Also Read - Facebook का जबरदस्त प्राइवेसी फीचर, इस तरह छिपाएं पोस्ट पर कितने आए लाइक

हाल में सामने आई जानकारी के मुताबिक, Meta (Facebook का नया नाम) के स्वामित्व वाली इन दोनों ऐप्स को डीफॉल्ट रूप से एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन फीचर साल 2023 में मिलेगा। बता दें कि इस सुविधा के तहत केवल सेंडर यानी मैसेज भेजने वाला और रिसीवर ही मैसेज को पढ़ पाएंगे। हालांकि, चाइल्ड प्रोटेक्शन ग्रुप और राजनेताओं ने चेतावनी दी है कि यह बाल शोषण की जांच कर रही पुलिस के लिए समस्या का कारण बन सकता है। Also Read - Facebook Messenger PC बीटा ऐप को मिला नया लुक और तेज हुई स्पीड

WhatsApp का E2EE फीचर इन ऐप के लिए पहले इस साल होना था रिलीज

द टेलीग्राफ में एक पोस्ट में Meta के सुरक्षा प्रमुख एंटीगोन डेविस के बताया कि इस फीचर को इंस्टाग्राम और फेसबुक मैसेंजर के लिए साल 2023 में लाया जाएगा। इससे पहले कंपनी ने इसी साल एक पोस्ट के माध्यम से घोषणा की थी वह  End-to-end encryption (E2EE) फीचर इन ऐप्स के लिए 2022 तक ले आएगा। हालांकि, अब समय सीमा को बढ़ाकर 2023 कर दिया गया है। डेविस ने अपने पोस्ट में लिखा है कि लोगों की प्राइवेट कम्युनिकेशन और उन्हें ऑनलाइन सुरक्षित रखने के लिए उनका दृढ़ संकल्प है। Also Read - Instagram के Text To Speech और Voice Effects फीचर का यूज करना है बहुत आसान, जानें तरीका

क्यों हो रही देरी?

डेविस के अनुसार, इन फीचर में देरी का मुख्य कारण यह है कि कंपनी यह सुनिश्चित करना चाहती है कि इस फीचर के आने से आपराधिक गतिविधियों को रोकने में किसी को भी बाधा न आए।

बता दें कि Facebook ने पहली बार 2016 में अपनी मैसेंजर सेवा में एन्क्रिप्शन को रोल आउट करना शुरू किया था, लेकिन यह केवल तभी काम करता है जब यूजर्स सीक्रेट कनवरजेशन फीचर का यूज करते हैं। फेसबुक को अपने सभी प्लेटफार्मों पर डिफॉल्ट रूप से एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन को लागू करने में देरी होने के लिए कई वर्षों से आलोचना मिल रही हैं। इसके अलावा कंपनी 3 मैसेजिंग प्लेटफॉर्म मैसेंजर, व्हाट्सऐप और इंस्टाग्राम डायरेक्ट के पीछे के इंफ्राटेक्चर को एकीकृत करने की भी योजना बना रही है।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: November 23, 2021 11:48 AM IST



new arrivals in india

Best Sellers