comscore देश सुनिश्चित करे कि डिजिटल स्पेस डार्क फोर्सेज के खेल का मैदान न बन जाये: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी | BGR India
News

देश सुनिश्चित करे कि डिजिटल स्पेस डार्क फोर्सेज के खेल का मैदान न बन जाये: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

साइबर स्पेस पर आयोजित ग्लोबल कांफ्रेंस में नरेन्द्र मोदी ने डिजिटल स्पेस को लेकर कुछ ऐसा ही कहा है।

  • Published: November 23, 2017 1:45 PM IST
narendra-modi-speech

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि देश को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि डिजिटल स्पेस किसी भी रूप में कुछ डार्क फोर्सेज के लिए खेल का मैदान न बन जाए। Also Read - अलर्ट! 10 में से 4 मोबाइल फोन पर साइबर अटैक का खतरा, जानें कैसे बचें

मोदी ने साइबर स्पेस (जीसीसीएस) पर वैश्विक सम्मेलन के पांचवें संस्करण के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि, “साइबर अटैक वैश्विक समुदाय के लिए एक बड़ा खतरा है। और हमें इस बात को सुनिश्चित करना चाहिए कि कहीं समाज का कमजोर वर्ग इसका शिकार न हो जाए।” उन्होंने आगे यह भी कहा कि हमें ज्यादा ध्यान साइबर वारियर्स के निर्माण पर देना चाहिए, ताकि वह किसी भी दुर्वाचारी स्थिति के लिए हमें सावधान करते रहें। Also Read - बड़े साइबर अटैक की जद में भारतीय एजुकेशन सेक्टर, रिपोर्ट में खुलासा

इस दो दिवसीय कांफ्रेंस का थीम साइबर4ऑल है: सशक्त और समेकित साइबरस्पेस फॉर सस्टेनेबल डेवलपमेंट। यह कहते हुए कि इंटरनेट ने भारतीय लोगों के जीवन को और आसान बनाया है उन्होंने आगे कहा कि, “डिजिटल एक्सेस के माध्यम से सशक्तिकरण ही भारत सरकार के एक बड़ा उद्देश्य है और वह इसी पर अपना ध्यान केंद्रित भी कर रहा है।” उन्होंने आगे यह भी कहा कि “हम अपने नागरिकों को सशक्त बनाने के लिए मोबाइल शक्ति या एम-पावर में विश्वास करते हैं।” Also Read - Qualcomm और MediaTek चिपसेट में मिली बड़ी खामी, एंड्रॉइड स्मार्टफोन यूजर्स पर साइबर अटैक का खतरा

प्रधान मंत्री ने कहा कि जन धन योजना के माध्यम से वित्तीय समावेशन, आधार और मोबाइल फोन के माध्यम से अद्वितीय पहचान ने भ्रष्टाचार को कम करने और देश में पारदर्शिता लाने में मदद की है।

भारत के आईटी प्रतिभा पूल के बारे में, मोदी ने कहा: “भारतीय आईटी की प्रतिभा को दुनिया भर में मान्यता मिली है। भारतीय आईटी कंपनियों ने अपने नाम को बड़े स्तर पर काबिज कर लिया है महिलाएं आईटी कार्यबल का महत्वपूर्ण हिस्सा बनती जा रही हैं, और आईटी क्षेत्र ने लैंगिक सशक्तिकरण में योगदान दिया है।”

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: November 23, 2017 1:45 PM IST



new arrivals in india