comscore स्पेन के PM और डिफेंस मिनिस्टर के मोबाइल में मिला Pegasus जासूसी वायरस
News

Pegasus एक बार फिर चर्चा में, स्पेन के PM और डिफेंस मिनिस्टर के मोबाइल में मिला जासूसी वायरस

Pegasus Spyware एक बार फिर चर्चा में है। इस जासूसी वायरस को स्पेन के प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री के मोबाइल फोन में पाया गया। जिसके जरिए कई अहम जानकारियों की जासूसी करने का अंदेशा जताया जा रहा है।

Pegasus

स्पेन के प्रधानमंत्री Pedro Sanchez और डिफेंस मिनिस्टर Margarita Robles के मोबाइल फोन में जासूसी वायरस Pegasus पाया गया। इस बात की जानकारी प्रेसिडेंसी के गवर्नर मिनिस्टर Felix Bolanos ने दी है। स्पैनिश ऑथिरिटी ने जांच के बाद PM और रक्षा मंत्री के मोबाइल में Pegasus वायरस डिटेक्ट किया है। Also Read - Google की Android यूजर्स को चेतावनी, यह दमदार Spyware कर रहा जासूसी

Bolanos ने कॉन्फ्रेंस के जरिए जानकारी दी है कि PM और डिफेंस मिनिस्टर के मोबाइल फोन में पिछले साल मई 2021 में Pegasus Spyware डिटेक्ट हुआ है। स्टेटमेंट के मुताबिक, तब से लेकर कम से कम एक डेटा लीक की घटना सामने आई है। Also Read - Pegasus को लेकर सख्त हुआ Apple, NSO ग्रुप पर किया केस

हालांकि, Bolanos ने इस बात की जानकारी नहीं दी है कि PM और रक्षा मंत्री के मोबाइल फोन के जरिए जासूसी कौन कर रहा था? इस जासूसी के पीछे किसी विदेशी ताकतों का हाथ है या किसी स्पैनिश ग्रुप इसमें शामिल है, यह पता लगाया जा रहा है। Also Read - Pegasus का नया वर्जन है बेहद खतरनाक, Apple iPhone यूजर्स के लिए बनेगा 'सिरदर्द'

जासूसी में बाहरी तत्व का हाथ

उन्होंने आगे कहा कि यह जासूसी अवैध और बाहरी थे। बाहरी का मतलब यह है कि इसमें गैर आधिकारिक संस्थान और राज्य निकाय शामिल नहीं हैं। PM और डिफेंस मिनिस्टर के मोबाइल फोन की जासूसी के बारे में न्याय मंत्रालय को जानकारी दी गई है और हाई कोर्ट इस केस की सुनवाई करेगा।

Bolanos ने साफ किया कि, स्पेन के प्रधानमंत्री Sánchez के मोबाइल फोन से मई 2021 में दो बार जासूसी की गई। वहीं, डिफेंस मिनिस्टर Margarita Robles के मोबाइल फोन से अगले महीने जानकारियां इकट्ठा की गई। उन्होंने आगे कहा कि इस सिक्योरिटी ब्रीच की वजह से बड़ी मात्रा में डेटा इकट्ठा किया गया है, जिसके बारे में स्पेन के नेशनल कोर्ट में आगे की जांच के लिए जानकारी शेयर की गई है।

उन्होंने अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि हमें इसमें कोई संदेह नहीं है कि यह एक अवैध, अनधिकृत हस्तक्षेप है। यह बाहरी स्टेट ऑर्गेनिजम्स से आता है जिसके पास न्यायिक ऑथोरिटी नहीं था।

स्पेन सरकार पर काफी दबाब

साइबर सुरक्षा विशेषज्ञों के समूह सिटीजन लैब के अनुसार,  इस डेटा सिक्योरिटी ब्रीच के बाद स्पेन की सरकार पर यह समझाने का दबाव है कि पूर्वोत्तर कैटेलोनिया क्षेत्र में अलगाववादी आंदोलन से जुड़े दर्जनों लोगों के मोबाइल फोन 2017 और 2020 के बीच पेगासस से संक्रमित क्यों थे?

सिटीजन लैब ने यह भी कहा है कि कैटलन अलगाववादी आंदोलन से जुड़े 60 से अधिक लोग इजराइल के NSO ग्रुप द्वारा बनाए गए पेगासस स्पाइवेयर के टारगेट थे।

कैटलन अलगाववादी आंदोलन के सदस्यों पर जासूसी करने के आरोपों के बाद, संसद में अल्पसंख्यक सरकार की प्रमुख सहयोगी, कैटेलोनिया की सेपरेटिस्ट स्वतंत्रता समर्थक पार्टी ERC ने कहा कि वे सरकार का समर्थन तब तक नहीं करेंगे जब तक कि मैड्रिड (स्पेन की राजधानी) विश्वास बहाल करने के उपाय नहीं करता।

यूरोपीय यूनियन के डेटा प्रोटेक्शन वॉचडॉग ने Pegasus पर प्रतिबंध लगाने का आग्रह किया है, जिसमें आरोप लगाया गया है कि क्लाइंट सरकारों द्वारा अधिकार कार्यकर्ताओं, पत्रकारों और राजनेताओं की जासूसी करने के लिए इसका दुरुपयोग किया गया है।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: May 3, 2022 9:35 AM IST



new arrivals in india