comscore
News

भारत में नेगेटिव फीडबैक के बाद PUBG Mobile यूजर एक्सपीरियंस बढ़ाने पर दे रही है जोर

PUBG Mobile की टीम गेम के अंदर चेक और स्टॉप लगाने के ऑप्शन को तलाश रही है, जिससे यह सुनिश्चित किया जा सके कि गेम को अच्छे इरादे के साथ खेला जा रहा है।

pubg-mobile-vikendi-snow-map-first-impressions

Image Credit: Rehan Hooda


हाल के कुछ दिनों में PUBG कई बुरी खबरों के लिए चर्चा में रहा है। जहां एक ओर यह कई बच्चों की मानसिकता पर काफी बुरा असर डाल रहा है, वहीं दूसरी ओर कई बच्चे इस गेम के चक्कर में खुदखुशी भी कर चुके हैं। भारत में भी इसका असर बढ़ता जा रहा है और सरकार इसे स्कूल से दूर रखने के लिए बैन करने की तैयारी भी कर रही है। यहां तक की देश में कई जगह लोग इस गेम को बैन करने तक की अपील कर रहे हैं। Vellore Institute of Technology ने हाल ही में PUBG को हॉस्टल में बैन कर दिया था। महाराष्ट्रा में एक 11 साल के बच्चे ने महाराष्ट्रा सरकार को इस गेम के बुरे असर के बारे में लिखा था और बाद में उसने कोर्ट से इसे बैन करने की गुहार भी लगाई है। हालांकि अब इस विषय पर अपनी गंभीरता को व्यक्त करते हुए PUBG Mobile की टीम ने एक स्टेटमेंट रिलीज की है।

“हम PUBG प्लेयर्स के द्वारा कंपनी को दिए गए सपोर्ट और विश्नाश को सराहते हैं। जहां एक ओर हम अपने फैन्स और प्लेयर्स को बेहतर गेमिंग एक्सपीरिएंस देना चाहते हैं, वहीं हम इस गेमिंग इकोसिस्टम का एक जिम्मेदार मेंबर होने के फर्ज को निभाने की गंभीरता को भी समझते हैं। गेम के कारण आने वाली समस्याओं को ठीक करने के लिए हम अलग-अलग स्टेकहोल्डर्स के साथ काम करते रहेंगे, जिनमें माता-पिता, टीचर्स और सरकारी विभाग शामिल हैं। हम उनका फीडबैक सुन कर और समझ कर PUBG Mobile के एक्सपीरिएंस को और बेहतर और सुरक्षित बनाने की कोशिश करते रहेंगे।”

“हैल्थी और बैलेंस इन-गेम वातावरण बनाए रखने के लिए, हम गेम में कई नए फीचर्स और एनहेंसमेंट को जोड़ रहे हैं, जो हमें हर वर्ग के प्लेयर्स के लिए PUBG Mobile के एक्पीरिएंस को सुरक्षित और बेहतर बनाने में मदद कर सके।”

PUBG Mobile की टीम गेम के अंदर चेक और स्टॉप लगाने के ऑप्शन को तलाश रही है, जिससे यह सुनिश्चित किया जा सके कि गेम को अच्छे इरादे के साथ खेला जा रहा है। हालांकि फिलहाल इसकी जानकारी नहीं दी गई है कि यह फीचर्स गेम में कब तक जोड़े जाएंगे।

  • Published Date: February 19, 2019 4:21 PM IST