comscore Qualcomm और Lenovo जल्द लॉन्च करेंगे पहला 5G इनेबल्ड लैपटॉप | BGR India
News

Qualcomm और Lenovo जल्द लॉन्च करेंगे पहला 5G इनेबल्ड लैपटॉप

Lenovo का यह लैपटॉप Qualcomm के Snapdragon 8cx कंप्यूटर प्लेटफॉर्म से पावर्ड होगा, जोकि 5G और 4G कनेक्टिविटी को सपोर्ट करेगा। इसके साथ ही Qualcomm ने दावा किया है कि इस लैपटॉप की बैटरी एक चार्ज पर पूरे दिन का बैकअप देगी।

qualcomm-stock-image-getty

अमेरिका और चीन के बीच व्यापार युद्ध के बीच अमेरिका बेस्ड चिप मेकर कंपनी Qualcomm और चाइनीज कंप्यूटर मेकर कंपनी Lenovo पहले 5G लैपटॉप पर काम कर रहे हैं। इस लैपटॉप में Qualcomm का प्रोसेसर होगा। इस डिवाइस का कोड-नेम “Project Limitless” (प्रोजेक्ट लिमिटलेस) है। ये लैपटॉप पहला 5G-इनेबल्ड पर्सनल कंप्यूटर है। इस लैपटॉप में कंप्यूटर के लिए 7nm प्लेटफॉर्म पर बना विश्व का पहला प्रोसेसर होगा जोकि 5G कनेक्टिविटी को सपोर्ट करेगा। TechCrunch की रिपोर्ट के मुताबिक यह लैपटॉप Qualcomm के Snapdragon 8cx कंप्यूटर प्लेटफॉर्म से पावर्ड होगा, जोकि 5G और 4G कनेक्टिविटी को सपोर्ट करेगा। इसके साथ ही Qualcomm ने दावा किया है कि इस लैपटॉप की बैटरी एक चार्ज पर पूरे दिन का बैकअप देगी।

इस लैपटॉप पर क्वॉलकॉम ने Snapdragon X55 5G मॉडेम यूज किया है जिसकी डाउनलोड स्पीड 2.5 Gbps से ऊपर है। रिपोर्ट के मुताबिक “Project Limitless” की रिलीज डेट पर फिलहाल कंपनी ने कोई जानकारी नहीं दी है। Qualcomm और Lenovo ने इस लैपटॉप का एनाउंसमेंट ताइवान में आयोजित Computex प्रेस कॉन्फ्रेंस में की है। बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा सुरक्षा कारणों से चीन से साथ व्यापार कठोर किए जाने के बाद भी दोनों कंपनियों ने साथ में काम करने की घोषणा की है।

Qualcomm के Snapdragon 8cx 5G मॉडेम किसी भी नेटवर्क को सपोर्ट कर सकता है यानी आप इस लैपटॉप को दुनिया में कभीं भी इंटरनेट से कनेक्ट कर सकत ेहैं। लेनोवो के इस लैपटॉप में Snapdragon 8cx 5G मॉडेम के साथ साथ Qualcomm का काइरो 495 और ऐंड्रेनो 680 जीपीयू भी दिया गया है। लेनेवो और क्वॉलकॉम का ये अपकमिंग लैपटॉप 8 चैनल LPDDR4x RAM तक सपॉर्ट करता है। इस अपकमिंग लैपटॉप में यूएफएस 3.0 फ्लैश स्टोरेज दिया गया है।

फिलहाल, दक्षिण कोरिया, चीन, जापान, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका में इस दौरान 5G नेटवर्क के लीडिंग मार्केट है। वहीं साल 2025 में चीन 5G के ग्लोबली मार्केट का 40 पर्सेंट होंगे। वहीं भारत में 5G स्पेक्ट्रॉम की निलामी होनी है लेकिन नेटवर्क ऑपरेटर्स ने 5G का ट्रायल शुरू कर दिया है। माना जा रहा है कि भारत में 2020 तक 5G नेटवर्क रोलआउट हो जाएगा।

  • Published Date: May 29, 2019 9:29 AM IST