comscore
News

जियो ने अक्टूबर 2018 में 1.05 करोड़ यूजर्स जोड़कर एयरटेल और वोडाफोन आइडिया के लिए बजाई खतरे की घंटी

अब रिलायंस जियो का सब्सक्राइबर्स बेस 26.3 करोड़ यूजर्स का हो गया है।

reliance-jio-stock

टेलीकॉम स्पेस में रिलायंस जियो की एंट्री के बाद से बाकी टेलीकॉम कंपनियों पर काफी प्रेशर आ गया है, जिसे साफ तौर पर देखा जा सकता है। प्राइस और डाटा वॉर के चलते एयरसेल और रिलायंस कॉम को अपना बिजनेस बंद करना पड़ा था। वहीं वोडाफोन और आइडिया भी मर्जर के बाद एक एंटिटी बन गई हैं जिन्हें वोडाफोन इंडिया का नाम दिया गया है। इसके अलावा टाटा डोकोमो का भी भारती एयरटेल में विलय हो गया है।

हालांकि अगर हम इन सबके बाद ट्राई के अक्टूबर डाटा को देखें तो इसके बावजूद बाकी टेलीकॉम कंपनियों की स्थिति अच्छी नहीं कही जा सकती है। ट्राई के आंकड़ो के मुताबिक रिलायंस जियो ने अक्टबर महीने में 1.05 करोड़ यूजर्स को अपने साथ जोड़ते हुए सभी टेलीकॉम कंपनियों को पीछे छोड़ दिया है।

अब कंपनी का सब्सक्राइबर्स बेस 26.3 करोड़ यूजर्स का हो गया है। जियो का मार्केट शेयर अक्टूबर में बढ़कर 22.46% हो गया है जो सितंबर में 21.57% था। इस दौरान अक्टूबर में सरकारी कंपनी BSNL ने 36 लाख सब्सक्राइबर्स को अपने साथ जोड़ा है और अब उसका मार्केट शेयर 9.7% हो गया है।

इसी सेम पीरियड में वोडाफोन आइडिया ने 73.6 लाख सब्सक्राइबर्स को गंवाया है, वहीं भारती एयरटेल को भी 18.6 लाख सब्सक्राइबर्स का नुकसान उठाना पड़ा है।

टाटा टेलीसर्विसेज को भी 92 लाख सब्सक्राइबर्स का नुकसान उठाना पड़ा है। अभी वोडाफोन आइडिया भारत में सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी बनी हुई है जिसके सब्सक्राइबर्स की संख्या कुल 42.76 करोड़ है। वोडाफोन आइडिया का मार्केट शेयर 36.55% है। एयरटेल 34.165 करोड़ सब्सक्राइबर्स के साथ दूसरे नंबर पर बनी हुई है और इसका मार्केट शेयर 29.2% है। 

  • Published Date: January 3, 2019 10:48 AM IST