comscore Social media account Linking with Aadhaar : Supreme court agree to hear facebook plea
News

सोशल मीडिया अकाउंट को आधार से जोड़ने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई के लिए राजी, केंद्र समेत कई कंपनियों को भेजा नोटिस

सोशल मीडिया अकाउंट को आधार कार्ड से जोड़ने का सुझाव तमिलनाडु सरकार ने दिया है। इसके विरोध में फेसबुक का कहना है कि 12-अंकों की आधार संख्या को साझा करने से उपयोगकर्ताओं की गोपनीयता नीति का उल्लंघन होगा। सुप्रीम कोर्ट ने मामले में केन्द्र सरकार, गूगल,ट्विटर, यूट्यूब और अन्य को नोटिस भेज कर 13 सितंबर तक जवाब देने को कहा है।

aadhaar resized stock image

सुप्रीम कोर्ट ने सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक की याचिका पर सुनवाई करते हुए केंद्र सरकार, ट्विटर, यूट्यूब और अन्य सोशल मीडिया कंपनियों को नोटिस भेजा है। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट फेसबुक की उस याजिका पर सुनवाई के लिए तैयार हो गया है जिसमें यूजर्स के सोशल मीडिया अकाउंट को आधार नंबर से जोड़ने की मांग करने वाले मामलों को मद्रास, बंबई और मध्य प्रदेश के हाई कोर्ट से सुप्रीम कोर्ट में स्थानांतरित करने की मांग की गई है। Also Read - सेना ने जवानों को Facebook और Instagram अकाउंट समेत 89 ऐप्स हटाने को कहा

सुप्रीम कोर्ट ने मामले में केन्द्र सरकार, गूगल,ट्विटर, यूट्यूब और अन्य को नोटिस भेज कर 13 सितंबर तक जवाब देने को कहा है। सुप्रीम कोर्ट में मामले की सुनवाई कर रहे जस्टिस दीपक गुप्ता और जस्टिस अनिरुद्ध बोस की पीठ ने कहा कि जिन पक्षों को नोटिस जारी नहीं किए गए हैं उन्हें ईमेल से नोटिस भेजे जाएं। पीठ ने कहा कि यूजर्स के सोशल मीडिया प्रोफाइल को आधार से जोड़ने के जो मामला मद्रास हाई कोर्ट में लंबित हैं उन पर सुनवाई जारी रहेगी, लेकिन फिलहाल कोई अंतिम फैसला नहीं दिया जाएगा। Also Read - दुनिया के 10 चर्चित एप और वेबसाइट्स, जो चीन में हैं बैन

गौरतलब है कि तमिलनाडु सरकार ने उच्चतम न्यायालय से सोमवार को कहा था कि फर्जी खबरों के प्रसार, मानहानि, अश्लील , राष्ट्र विरोधी एवं आतंकवाद से संबंधित सामग्री के प्रवाह को रोकने के लिए सोशल मीडिया अकाउंट को उसके यूजर के आधार नंबर से जोड़ने की आवश्यकता है। फेसबुक तमिलनाडु सरकार के इस सुझाव का इस आधार पर विरोध कर रहा है कि 12-अंकों की आधार संख्या को साझा करने से उपयोगकर्ताओं की गोपनीयता नीति का उल्लंघन होगा । Also Read - ग्लोबल टेक कंपनियों Amazon, Google की बढ़ेंगी मुश्किलें, स्थानीय स्टार्टअप को मदद करेगी सरकार

इस मामले पर फेसबुक का कहना है कि वह तीसरे पक्ष के साथ आधार संख्या को साझा नहीं कर सकता है क्योंकि इंस्टेट मैसेजिंग ऐप व्हाट्सऐप के संदेश को कोई और नहीं देख सकता है और यहां तक कि उनकी भी पहुंच नहीं है।

(इनपुट पीटीआई-भाषा से )

स्मार्टफोन, मोबाइल रिव्यू हिंदी, ऐप्स, टेलीकॉम और टेक जगत की ताजा खबरों के लिए यहां क्लिक करें…

BGR India हिन्दी के फेसबुक और ट्विटर पेज से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें…

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें।

  • Published Date: August 20, 2019 4:33 PM IST



new arrivals in india

Best Sellers