comscore रेहड़ी जल्द स्वीकार करेंगे 'ई-वालेट' से भुगतान | BGR India
News

रेहड़ी जल्द स्वीकार करेंगे 'ई-वालेट' से भुगतान

अब रेहड़ी पर भी उपलब्ध होगी ई-भुगतान की सुविधा।

  • Updated: February 15, 2022 3:44 PM IST
MobiKwik-logo


नकदी की कमी से निपटने के लिए ग्राहकों के साथ डिजिटल हस्तांतरण संचालित करने हेतु 25 राज्य में करीब 10 लाख रेहड़ी पटरी वालों को प्रशिक्षित किया जाएगा। नकद रहित हस्तान्तरणों के लिए भारत के राष्ट्रीय रेहड़ी पटरी संघ (एनएएसवीआई) ने मोबाइल वालेट मोबीक्वि क के साथ गठजोड़ किया है। Also Read - MobiKwik ने बढ़ाई ट्रेडर्स की परेशानी, बंद कर दी क्रिप्टो पेमेंट सर्विस

Also Read - MobiKwik यूजर्स का पर्सनल डेटा लीक, कंपनी ने किया इनकार

एनएएसवीआई के संस्थापक अरविंद सिंह ने कहा कि नोटबंदी के बाद से छोटे दुकानदार और रेहड़ी पटरीवाले बुरी तरह प्रभावित हुए हैं और इस हालत में मोबीक्वि क के साथ साझेदारी से उन्हें काफी मदद मिलेगी। Also Read - अब DigiLocker की मदद से करें Mobile Wallets की e-KYC

सिंह ने कहा, “नोटबंदी के बाद रेहड़ी पटरी वालों का 70 प्रतिशत कारोबार खत्म हो गया है और यह निदान उन्हें उनका कारोबार जारी रखने हेतु सक्षम बनाएगा।” सिंह ने कहा, “नोटबंदी की वजह से पूरे भारत में फुटपाथ विक्रेता अपना 70 प्रतिशत व्यवसाय खो चुके हैं और इससे उन पर काफी नकारात्मक प्रभाव पड़ा है। इसलिए नासवी इसका समाधान निकालने और उन्हें कैशलेस इकोनोमी के बारे में अवगत कराने के लिए मोबीक्विक के साथ आगे आई है।”

मोबीक्विक की सह-संस्थापक उपासना टाकु ने कहा कि ‘देश के लिए देश का वालेट’ के उद्देश्य के साथ कंपनी भारत और इंडिया के बीच अंतर कम करने का लगातार प्रयास करती है। मोबीक्विक लाइट एप हुआ लॉन्च, अब क्रेडिट और डेबिट कार्ड से कर सकते हैं भुगतान

करीब तीन महीने में यह दस लाख रेहड़ी पटरी वालों को नकदरहित सुविधा के बारे में प्रशिक्षण देगा और बाद में भारत के 24 राज्यों में रेहड़ी पटरी वालों की जीविका सुनिश्चित करने के लिए करीब तीस लाख रेहड़ी पटरीवालों को प्रशिक्षित किया जाएगा।

हाल ही में मोबिक्विक ने लाइट एप लॉन्च किया है जो कि 2जी नेटवर्क पर भी आसानी से कार्य करने में सक्षम है। इसका उपयोग कर धीमे नेटवर्क पर भी उपभोक्ता क्रेडिट और डेबिट कार्ड से पेमेंट का भुगतान कर सकते हैं। इससे पहले हाल ही में पेटीएम ने भी पीओएस सुविधा को अपने एप में शामिल किया है। वहीं अब मोबीक्विक लाइट एप वर्जन का उपयोग धीमे नेटवर्क पर कर सकते हैं साथ ही यह लाइट एप बहु-भाषाओं को सपोर्ट करने में सक्षम है।

लाइट वर्जन में अधिकतर फीचर मुख्य वर्जन के समान ही हैं किंतु इसे खासतौर पर ऐसे उपभोक्ताओं को ध्यान में रखकर पेश किया गया है जो 2जी या फिर धीमे इंटरनेट का उपयोग कर रहे हैं और नोटबंदी के बाद आॅनलाइन पेमेंट भुगतान में समस्या आ रही है। खास बात है कि मोबीक्विक की इस नई सर्विस उपभोक्ता को क्रेडिट और डेबिट कार्ड से भुगतान के लिए मोबीक्विक एप को डाउनलोड करने की आवश्कता नहीं है।

  • Published Date: December 18, 2016 11:32 AM IST
  • Updated Date: February 15, 2022 3:44 PM IST

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.