comscore बिक गया 54 लाख यूजर्स का डेटा, Twitter ने माना हुआ था अटैक
News

बिक गया 54 लाख यूजर्स का डेटा, Twitter ने माना हुआ था अटैक

Twitter ने कहा कि इसने इस साल जनवरी में अपने बग बाउंटी प्रोग्राम, HackerOne के जरिए बग के बारे में जाना और इसी दौरान इसे ठीक भी कर दिया। इसने बताया कि यह बग जून 2021 में इसके कोड में अपडेट के साथ आ गया था।

Twitter-logo


साइबर क्रिमिनल हमेशा वेब-ब्राउजर और दूसरी टेक सर्विसेज में कमियों की तलाश में रहते हैं। सिक्योरिटी लूपहोल मिलने पर ये हैकर इसका फायदा उठाकर यूजर के डेटा को चुराने की कोशिश करते हैं। Twitter पर पिछले साल दिसंबर में इसी तरह का एक अटैक हुआ था, जिसमें हैकर ने दावा किया था कि इसने 54 लाख अकाउंट के बारे में बारे में अहम जानकारी हासिल कर ली थी। Also Read - Elon Musk की बड़ी तैयारी! लान्च कर सकते हैं अपना फोन, आईफोन और एंड्रॉयड को मिलेगी कड़ी टक्कर

अब Twitter ने इस अटैक को स्वीकार किया है। इसने कहा कि यह अटैक हुआ था और जिस जीरो-डे एक्सप्लॉइट की मदद से यह किया गया था, उसे ठीक कर दिया गया है। Zero-day vulnerability किसी सॉफ्टवेयर के उस सिक्योरिटी लूपहोल को कहते हैं, जिसके बारे में कंपनी को पता चलने से पहले हमलावर ढूंढ लेते हैं और उसका इस्तेमाल साइबर अटैक में करते हैं। Also Read - Elon Musk का नया प्लान, Twitter पर सिर्फ ब्लू नहीं अब गोल्ड और ग्रे कलर में भी मिलेगा वेरिफिकेशन बैज

Twitter अटैक में 54 लाख अकाउंट हुए कॉम्प्रमाइज

Twitter ने जिस साइबर अटैक को स्वीकार किया है, वह दिसंबर 2021 में हुआ था। कंपनी द्वारा इस हमले का संज्ञान लेने से यह बात नहीं बदलती है कि अटैकर के पास अभी भी यूजर्स का अकाउंट डेटा है। Also Read - Twitter पर अगले हफ्ते से शुरू होगी सस्पेंड अकाउंट की वापसी, Elon Musk ने की घोषणा

पिछले महीने अटैकर ने BleepingComputer को बताया कि ये 54,85,636 अकाउंट की लोकेशन, URL, प्रोफाइल पिक्चर और दूसरे डेटा को कम्पाइल कर पाए हैं। इन्होंने ट्विटर सिक्योरिटी में एक ऐसी कमी का इस्तेमाल किया जिसने किसी को भी एक ऐक्टिव ट्विटर खाते की जांच करने के लिए एक फोन नंबर या ईमेल पूछने की अनुमति दी और फिर अकाउंट की जानकारी हासिल करने दी।

पब्लिकेशन के मुताबिक, इस डेटा को लगभग 30,000 डॉलर में पेश किया जा रहा था। हालांकि कथित तौर पर यह कमज-कम दो अलग-अलग लोगों को काफी कम राशि में बेचा गया था। हमलावर ने उस समय यह भी कहा था कि डेटा मुफ्त में जारी किया जा सकता है, जिससे लाखों उपयोगकर्ताओं की गोपनीयता खतरे में पड़ सकती है।

गड़बड़ी हो चुकी है ठीक

Twitter ने कहा कि इसने इस साल जनवरी में अपने बग बाउंटी प्रोग्राम, HackerOne के जरिए बग के बारे में जाना और इसी दौरान इसे ठीक भी कर दिया। इसने बताया कि यह बग जून 2021 में इसके कोड में अपडेट के साथ आ गया था।

ट्विटर ने बताया कि यह प्रत्येक प्रभावित यूजर को सूचित कर रहा है, लेकिन कंपनी का यह भी कहना है कि वह इस सिक्योरिटी लूपहोल के कारण उजागर हुए प्रत्येक खाते की पुष्टि नहीं कर सकता है। Twitter ने यूजर्स को टू-फैक्टर ऑथेन्टिकेशन चालू करने की सलाह दी है।

  • Published Date: August 8, 2022 10:01 AM IST

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.