comscore Aadhaar Card का सिक्योरिटी सिस्टम होगा मजबूत, टॉप-20 हैकर्स के साथ मिलकर 'सीक्रेट प्लान' बनाएगा UIDAI
News

Aadhaar Card का सिक्योरिटी सिस्टम होगा मजबूत, टॉप-20 हैकर्स के साथ मिलकर 'सीक्रेट प्लान' बनाएगा UIDAI

UIDAI ने आधार कार्ड में मौजूद नागरिकों की जानकारियों को हर तरफ से सुरक्षित रखने के लिए एक बग बाउंटी प्रोग्राम शुरू किया है। इसमें वो टॉप 20 हैकर्स की मदद से आधार कार्ड की सुरक्षा करेंगे। आइए हम आपको इस खबर की डिटेल्स बताते हैं।

Aadhar Cards Security system

Image Credit: UIDAI


Aadhaar Card भारत में रहने वाले हरेक नागरिक के लिए एक अति-आवश्यक डॉक्यूमेंट है। यह भारत में रहने वाले लोगों के लिए भारतीय नागरिक होने का एक सबूत है। आधार कार्ड में लोगों को कई निजी जानकारियां होती है। भारत के करीब 1.32 अरब नागरिकों के निजी जानकारियों की सुरक्षा भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण यानी UIDAI करता है। UIDAI इतने सारे नागरिकों की सुरक्षा में कोई कमी नहीं छोड़ता लेकिन फिर भी कई बार ऐसी खबरें सामने आती रहती है कि लोगों का आधार डाटा लीक हो रहा है। Also Read - UIDAI को क्यों कैंसिल करना पड़ा 6 लाख लोगों का आधार कार्ड? जानें वजह

UIDAI ने बनाया नया प्लान

इस समस्या का समाधान करने के लिए अब UIDAI ने एक नया प्लान बनाया है। UIDAI अब हैकर्स की मदद से अपने सिक्योरिटी सिस्टम को मजूबत बनाएगा। न्यूज18 की एक एक्सक्लूसिव रिपोर्ट के मुताबिक यूआईडीएआई ने अपने सिस्टम में कमियों को ढूंढने के लिए एक बग बाउंटी प्रोग्राम की शुरुआत की है। Also Read - अब Aadhaar Card से ट्रैक होगी जन्म और मृत्यु, UIDAI करने वाली है दो बड़े बदलाव

इसके तहत यूआईडीएआई टॉप-20 हैकर्स को चुनेगा, जो उनके आधार डाटा के सिक्योरिटी सिस्टम को परखेंगे और उसमें बग यानी कमियों को निकालने की कोशिश करेंगे। Also Read - आधार कार्ड यूज करते समय हमेशा याद रखें ये सिक्योरिटी टिप्स, नहीं तो हो सकता है बड़ा नुकसान

हैकर्स से ली जाएगी मदद

रिपोर्ट के मुताबिक 20 अलग-अलग हैकर्स को यूआईडीएआई के सेंट्रल आइडेंटिटी डेटा रिपोजिटरी (CIDR) को अध्यन करने और उसे समझने का मौका दिया जाएगा। आपको बता दें कि सेंट्रल आइडेंटिटी डेटा रिपोजिटरी दुनिया का सबसे बड़ा डेटाबेस है, जिसमें 1.32 अरब भारतीयों की निजी जानकारियां स्टोर की गई है।

हैकर्स इस डेटाबेस को परखेंगे और इसमें सभी संभावित कमियों को ढूंढेंगे, जिसे यूआईडीएआई ठीक करेगा और आधार कार्ड के सिक्योरिटी सिस्टम को पहले से भी ज्यादा मजबूत और सबसे ज्यादा मजबूत बनाएगा।

हैकर्स के लिए जरूरी बातें

हालांकि, टॉप-20 हैकर्स को चुनने के लिए यूआईडीएआई ने एक सिस्टम बनाया है। UIDAI के आदेश के मुताबिक उनके सिस्टम में बग निकालने वाले हैकर्स हैकरऑन, बगक्राउड जैसे टॉप 100 बग बाउंटी प्रोग्राम के लीडर्स बोर्ड में शामिल होने चाहिए। इसके अलावा अगर हैकर्स गूगल, फेसबुक, एप्पल या माइक्रोसॉफ्ट जैसी बड़ी और लोकप्रिय कंपनियों के बग बाउंटी प्रोग्राम का हिस्सा रह चुके हैं तो भी UIDAI के बग बाउंटी प्रोग्राम में भाग ले सकते हैं।

अगर किसी हैकर ने इस उपलब्धि को भी हासिल नहीं किया है तो उसे साबित करना होगा कि वो बग बाउंटी प्रोग्राम में एक्टिव रहता है और उसने पिछले एक साल में वैलिड बग ढूंढकर इनाम पाया है।

इसके अलावा हैकर्स के लिए भारतीय नागरिक होना बेहद जरूरी है। उसके बाद आधार कार्ड का वैलिड नंबर होना चाहिए और उसे UIDAI के साथ एक समझौता करना होगा कि वो उनके सभी दिशा निर्देषों का पालन करेगा और किसी भी स्थिति में अंदर की किसी भी जानकारियों का बाहर खुलासा नहीं करेगा।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: July 23, 2022 10:42 PM IST
  • Updated Date: July 23, 2022 11:02 PM IST



new arrivals in india