comscore 26 जुलाई को होगी 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी, केन्द्र सरकार से मिली मंजूरी
News

26 जुलाई को होगी 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी, केन्द्र सरकार से मिली मंजूरी

5G in India: भारत में 5G सर्विस शुरू करने के लिए केन्द्र सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार (15 जून) को हुई केन्द्रीय कैबिनट की बैठक में 5G स्पेक्ट्रम के ऑक्शन को मंजूरी मिल गई है।

5G Spectrum Auction

5G in India: भारत में 5G सर्विस शुरू करने के लिए केन्द्र सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार (15 जून) को हुई केन्द्रीय कैबिनट की बैठक में 5G स्पेक्ट्रम के ऑक्शन को मंजूरी मिल गई है। कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद DoT (डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकॉम) 5G के लिए स्पेक्ट्रम बैंड को आवंटित कर सकेगा। Also Read - 5G के प्लान होंगे महंगे, लेकिन सस्ते में मिलेगा 1GB डेटा?

कैबिनेट ने टेलीकॉम कंपनियों को 20 साल के लिए स्पेक्ट्रम आवंटित करने का फैसला लिया है। 5G स्पेक्ट्रम नीलामी (5G spectrum auction) के बाद तीनों प्राइवेट टेलीकॉम कंपनियों Reliance Jio, Airtel और Vodafone-idea के साथ-साथ BSNL अपनी 5G सर्विस शुरू कर सकता है। Also Read - 5G in India: सितंबर से ले सकेंगे सुपरफास्ट 5G सर्विस का आनंद, जानें 5 अहम बातें

26 जुलाई को नीलामी प्रक्रिया होगी पूरी

PIB की रिपोर्ट के मुताबिक, 26 जुलाई तक 5G स्पेक्ट्रम बैंड की नीलामी प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। रिपोर्ट के मुताबिक, 5G ऑक्शन के लिए कपनियां 8 जुलाई तक आवेदन कर सकते हैं। वहीं, ऑक्शन में शामिल होने वाली कंपनियों की फाइनल लिस्ट 20 जुलाई को लाइव की जाएगी। DoT 22 और 23 जुलाई को मॉक ऑक्शन आयोजित करेगी। DoT ने 22 जून तक NIA से क्लारिफिकेशन मांगा है, जिसे 30 जून तक पब्लिक किया जाएगा। Also Read - 5G की रेस में Jio और Airtel आगे, Vodafone-Idea पर संदेह: रिपोर्ट

सरकार द्वारा जारी किए गए बयान के मुताबिक, दूरसंचार विभाग 72097.85 मेगाहर्ट्ज (MHz) स्पेक्ट्रम की नीलामी करेगा। टेलीकॉम कंपनियों को राहत देते हुए स्पेक्ट्रम के लिए सरकार ने एडवांस पेमेंट की आवश्यकता को भी खत्म कर दिया है। सरकार ने सफल बोली लगाने वाली टेलीकॉम कंपनी को स्पेक्ट्रम की राशि का भुगतान 20 EMI में देने के लिए कहा है, जिससे टेलीकॉम कंपनियों पर एकमुश्त राशि लगाने का बोझ खत्म हो गया है।

इन स्पैक्ट्रम बैंड्स की होगी नीलामी

5G के लिए दूरसंचार विभाग 600MHz, 700MHz, 800MHz, 900MHz, 1800MHz, 2100MHz, 2300MHz लो-फ्रिक्वेंसी बैंड, 3300MHz मिड फ्रिक्वेंसी बैंड और 26GHz हाई फ्रिक्वेंसी बैंड की नीलामी करेगा।

केन्द्र सरकार ने टेलीकॉम सेक्टर में सुधार और देश में हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्टिविटी को बढ़ावा देने के लिए स्पेक्ट्रम की नीलामी में भाग लेने वाली कंपनियों को राहत दी है। केन्द्रीय मंत्रीमंडल ने इज ऑफ डूइंग बिजनेस को ध्यान में रखते हुए स्पेक्ट्रम के लिए लगाए जाने वाली बोली की राशि को 20 आसान किश्तों में भुगतान करने का निर्देश दिया है।

टेलीकॉम कंपनियों को 5G स्पेक्ट्रम 20 सालों के लिए आवंटित किया जाएगा। अगर टेलीकॉम कंपनी चाहे तो 10 साल के बाद स्पेक्ट्रम को सरेंडर भी कर सकते हैं।

10 गुना तेज मिलेगी इंटरनेट स्पीड

5G सर्विस शुरू होने के बाद मौजूदा 4G के मुकाबले 10 गुना फास्ट इंटरनेट मिलेगा। साथ ही साथ, कनेक्टिविटी भी बेहतर होगी। स्पेक्ट्रम की नीलामी होने के कुछ महीनों बाद टेलीकॉम कंपनियां सर्विस शुरू कर देंगी। Airtel, Jio और Vi ने कई शहरों में 5G सर्विस की टेस्टिंग की है। इन शहरों में सबसे पहले 5G सर्विस को लॉन्च किया जा सकता है।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: June 15, 2022 12:37 PM IST
  • Updated Date: June 16, 2022 8:49 AM IST



new arrivals in india