comscore चोरी करने से पहले ही पकड़े जाएंगे चोर, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस से लैस हैं ये सिक्योरिटी कैमरे | BGR India
News

चोरी करने से पहले ही पकड़े जाएंगे चोर, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस से लैस हैं ये सिक्योरिटी कैमरे

ये सिक्योरिटी कैमरा आर्टफिशियल इंटेलीजेंस सॉफ्टवेयर पर बेस्ड है।

security camera

आज टेक्नोलॉजी अपने चरम पर है। आज से कुछ साल पहले हमें जो बातें असंभव लगती थी वो आज सब टेक्नोलॉजी की मदद से अब संभव है। हम आपको यहां ऐसी ही टेक्नोलॉजी के बारे में बता रहे हैं जिससे चोरी की संभावनाओं को कम करने में मदद मिलेगी। यह एक खास तरह के सिक्योरी कैमरा हैं जिससे चोरी पर काफी हद तक अंकुश लगाया जा सकता है। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक ये सिक्योरिटी कैमरा चोरों को उनके फुटस्टेप और उनकी हरकतों को ट्रैक करके उन्हें पहचान लेता है।

ये सिक्योरिटी कैमरा आर्टफिशियल इंटेलीजेंस सॉफ्टवेयर पर बेस्ड है। इस टेक्नोलॉजी को जापान की एक स्टार्टअप Vaak ने तैयार किया है।

जापान के टोक्यो में इन सिक्योरिटी कैमरा का इस्तेमाल भी किया जा रहा है। ये सिक्योरी कैमरे किसी संदिग्ध व्यक्ति को पहचान कर ऐप के जरिए स्टोर्स के स्टॉप को अलर्ट मैसेज भेज देते हैं। Vaak अभी कई स्टोर्स में अपने इस सिक्योरिटी कैमरा की टेस्टिंग कर रही हैं। कंपनी की लक्ष्य है कि अगले तीन सालों में 100,000 स्टोर्स में उसकी यह टेक्नोलॉजी काम कर रही होगी। इसके जरिए शॉपलिफ्टिंग पर लगाम लगामे में मदद मिलेगी।

इस स्टार्टअप को कई बड़े इनवेस्टर्स से फंडिंग मिली हुई है। हालांकि यह सिक्योरिटी कैमरे कितने ऑथेन्टिकेट होंगे इस बारे में अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगा। इस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल आने वाले टाइम में जापान के बाहर दूसरे देशों में भी किया जा सकता है।

  • Published Date: March 8, 2019 4:27 PM IST