comscore What is Twitter Poison Pill How is it stopping Elon Musk from taking over Twitter - क्या है Twitter Poison Pill, जो Elon Musk के टेकओवर को बना रही है मुश्किल
News

क्या है Twitter Poison Pill, जो Elon Musk की राह को बना रही है मुश्किल

Elon Musk के ट्विटर टेकओवर को रोकने के लिए कंपनी बोर्ड ने 15 अप्रैल को एक Poison Pill स्ट्रैटिजी अपनाई है। आइए जानते हैं यह क्या है और इसकी काट क्या है।

Elon-Musk-Twitter-Poison-Pill

(Image: Mohammad Faisal/ BGR.in)


Elon Musk ने सोमवार को ट्विटर बोर्ड पर निशान साधते हुए एक ट्वीट की। इन्होंने कहा कि अगर ट्विटर खरीदने की इनकी बिड कामयाब होती है तो बोर्ड की सैलरी $0 हो जाएगी। इस वजह से कंपनी साल का $3M बचा लेगी। Also Read - Twitter की भारत में बढ़ी मुश्किल, सरकार ने दिया IT Rules मानने का आखिरी 'अल्टीमेटम'

Elon Musk का यह कमेन्ट इंवेस्टमेंट ऐडवाइजर गैरी ब्लैक के थ्रेड के जवाब में आया है। ब्लैक ने कहा कि अगर मस्क ट्विटर को प्राइवेट ले जाते हैं तो ट्विटर बोर्ड मेम्बर्स के पास जॉब नहीं रह जाएगी, जो इन्हें साल का $250k से $300k चुकाती है। मस्क पहले ही बता चुके हैं कि ये ट्विटर को खरीदकर प्राइवेट ले जाना चाहते हैं। Also Read - Twitter यूजर्स को मिलेगी YouTube वाली फील, रोल आउट हुआ यह तगड़ा फीचर

Elon Musk के ट्विटर टेकओवर को रोकने के लिए कंपनी बोर्ड ने 15 अप्रैल को एक Poison Pill स्ट्रैटिजी अपनाई है। आइए जानते हैं कि यह स्ट्रैटिजी क्या है और कैसे यह इस टेकओवर को मुश्किल बना सकती है।

क्या है Twitter की Poison Pill?

शेयरहोल्डर राइट्स प्लान को सामान्य भाषा में Poison Pill बुलाया जाता है। यह प्लान शेयरधारकों को डिस्काउंट पर कंपनी के अतिरिक्त शेयर खरीदने की अनुमति देता है। इस प्लान को एक कंपनी किसी अनचाहे टेकओवर को रोकने के लिए अपनाती है। इस स्ट्रैटिजी के ऐक्टिव होने के लिए एक ट्रिगर पॉइंट भी सेट किया जाता है।

Twitter के केस में अगर कोई व्यक्ति बोर्ड की मंजूरी के बिना कंपनी के 15% स्टॉक खरीदता है, तो बाकी के सभी शेयरधारकों को कंपनी के अतिरिक्त शेयर खरीदने का अवसर दिया जाएगा। इसकी वजह से बोर्ड के दूसरे मेम्बर कम कीमत में ट्विटर में अपनी हिस्सेदारी बढ़ा पाएंगे और एलन मस्क की हिस्सेदारी कम हो जाएगी।

ट्विटर ने कहा कि यह योजना “स्टॉकहोल्डर्स को जबरदस्ती या अन्यथा अनुचित अधिग्रहण रणनीति से बचाएगी।”

Poison Pill की काट

अगर Poison Pill ऐक्टिव होती है तो यह मस्क के लिए बहुत नुकसान की बात होगी। मगर इस स्ट्रैटिजी की एक काट भी है। QZ की रिपोर्ट के मुताबिक, मस्क एक प्रॉक्सी कॉन्टेस्ट की मदद से इस पिल से बच सकते हैं। इन्हें प्रॉक्सी जमा करके 51 प्रतिशत शेयरहोल्डर वोट इकट्ठे करने होंगे, जिसके बाद ये मौजूदा बोर्ड को हटा सकते हैं। इस काम में बहुत लंबा लग सकता है।

किसके पास ट्विटर की कितनी प्रतिशत हिस्सेदारी है

मौजूदा वक्त पर Elon Musk के पास ट्विटर का 9.2 प्रतिशत हिस्सा है। इस स्टेक के साथ मस्क कंपनी के दूसरे सबसे बड़े शेयरहोल्डर हैं। 10.3 प्रतिशत स्टेक के साथ ट्विटर का सबसे बाद शेयरहोल्डर एसेट मैनेजर Vanguard Group है। ट्विटर बोर्ड में सबसे बड़ा हिस्सा कंपनी के एक्स-सीईओ Jack Dorsey के पास है, जो 2.253 प्रतिशत है। इसके बाद सबसे बड़ा हिस्सा मौजूदा सीईओ Parag Agrawal के पास है, जो 0.063 प्रतिशत है।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: April 19, 2022 2:54 PM IST
  • Updated Date: April 19, 2022 3:12 PM IST



new arrivals in india