comscore स्मार्टफोन से 1 अरब से ज्यादा लोगों के हो सकते हैं कान खराब | BGR India
News

स्मार्टफोन से 1 अरब से ज्यादा लोगों के हो सकते हैं कान खराब

यूएन ने वार्निंग जारी करते हुए सेफ वॉल्यूम लेवल के लिए नए सेफ्टी स्टैंडर्ड प्रस्तावित किए हैं।

samsung galaxy j7 max lead

आजकल की भाग दौड़ वाली जिदंगी में हम सभी लोग मोबाइल का काफी इस्तेमाल करते हैं। अब यूएन ने एक चेतावनी जारी करते हुए कहा कि दुनियाभर में करीब 1 अरब लोगों को अधिक स्मार्टफोन और ऑडियो डिवाइस का इस्तेमाल करने से कान खराब होने का डर है।

यूएन ने वार्निंग जारी करते हुए सेफ वॉल्यूम लेवल के लिए नए सेफ्टी स्टैंडर्ड प्रस्तावित किए हैं। इसको लेकर WHO और इंटरनेशनल टेलीकॉम्युनिकेशन यूनियन ने ऑडियो डिवाइस के लिए एक नॉन बाइंडिंग इंटरनेशनल स्टैंडर्ड भी जारी किया है।

UN हेल्थ एजेंसी के मुताबिक कान डैमेज होने का सबसे ज्यादा खतरा युवाओं को ही है। 12 से 35 साल के बीच 1.1 अरब युवाओं को कान डैमेज होने का सबसे ज्यादा खतरा है। ये वर्ग ज्यागातर स्मार्टफोन और ऑडियो डिवाइसों का इस्तेमाल करता है।

WHO चीफ Tedros Adhanom Ghebreyesus ने इस बात पर जोर देते हुए कहा कि लोगों को इसके बारे में बहुत कम जानकारी है कि कैसे कान खराब होने से बचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि कई युवा लोग तेज साउंड के कारण अपने कान खराब कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि यह ऐसी बीमारी है जिसमें सुनने की क्षमता को वापस हासिल नहीं किया जा सकता है।

  • Published Date: February 13, 2019 4:56 PM IST