comscore #WorldEmojiDay: इमोजी ने बदल दी चैटिंग, शब्दों पर पड़ते हैं भारी | BGR India
News

#WorldEmojiDay: इमोजी ने बदल दी चैटिंग, शब्दों पर पड़ते हैं भारी

वो साल 1990 का आखिरी दौर था जब इमोजी का चलन शुरू हुआ।

Untitled design (63)

17 जुलाई को हर साल वर्ल्ड इमोजी डे मनाया जाता है। इमोजी के आने के बाद चैटिंग की परिभाषा ही बदल गई है। पहले जहां यूजर्स अपने इमोशन को शब्दों में बयां करते थे, लेकिन अब इमोजी शब्दों पर भारी है। आपके स्मार्टफोन में तमाम वो इमोजी पड़े होंगे, जो आपके सुख, दुख, गुस्सा और नाराजगी को दर्शाते हैं। वक्त पड़ने पर बस एक इमोजी हजार शब्दों पर भारी पड़ जाता है। Also Read - Top Most Used Emojis in World: ये है सबसे ज्यादा यूज होने वाली इमोजी, Heart Emoji को भी छोड़ा पीछे

Also Read - 20 अप्रैल से बदल जाएगा Google Docs इस्तेमाल करने का अंदाज, आ रहा 'गजब' का फीचर

वो साल 1990 का आखिरी दौर था जब इमोजी का चलन शुरू हुआ। सबसे पहले एप्पल ने आईफोन के की-बोर्ड में इसको शामिल किया। इसके बाद उपभोक्ताओं को लुभाने के लिए नई-नई इमोजी आते गए। पहली बार इमोजी डे मनाने का चलन साल 2014 से शुरू हुआ। इसकी शुरुआत जेरेमी बर्ग ने की, वो यूनिकोड कमेटी के सदस्य हैं। Also Read - Telegram Message में अब आएगा इमोजी रिएक्शन भेजने वाला फीचर, जानें कौन-कौन से Emojis होंगे शामिल

आधिकारिक यूनिकोड स्टैंडर्ड लिस्ट के मुताबिक अब तक 2666 से ज्यादा इमोजी बनाई जा चुकी हैं। यूनिकोड कंसोर्टियम इमोजी के लिए रूपरेखा तैयार करता है और तय करता है कि क्या इमोजी बननी चाहिए? लेकिन एप्पल और गूगल जैसी कंपनियां अपनी निजी इमोजी बनाने के लिए स्वतंत्र हैं।

दुनिया में सबसे पहला इमोजी ‘स्माइली’ बनाया गया था। हर साल  सैकड़ों की तादाद में नई Emoji के लिए आवेदन पत्र दिए जाते हैं।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: July 17, 2018 5:48 PM IST
  • Updated Date: February 15, 2022 5:14 PM IST



new arrivals in india