comscore जानें एंड्राइड O में उपलब्ध होने वाले इन पांच फीचर्स के बारे में | BGR India
News

जानें एंड्राइड O में उपलब्ध होने वाले इन पांच फीचर्स के बारे में

गूगल I/O 2017 में कंपनी नया एंड्राइड वर्जन O पेश किया है जो कि नए फीचर्स से लैस होगा।

  • Updated: February 15, 2022 3:59 PM IST
android o logo

गूगल की डेवलपर कॉन्फ्रेंस गूगल I/O 2017 इवेंट की शुरूआत हो चुकी है और इसमें लोगों की नजर नए एंड्राइड वर्जन O पर है। कंपनी ने इवेंट में आॅफिशियल तौर पर एंड्राइड ओ का बीटा वर्जन लॉन्च कर दिया है। हालांकि दो महीने पहले इसका डेवलपर प्रीव्यू पेश किया गया था। एंड्राइड O में आपको पिक्चर-टू-पिक्चर, नोटिफिकेशन डॉट्स, गूगल के साथ ऑटोफिल और स्मार्ट टेक्स्ट सिलेक्शन जैसे कई फीचर्स मिलेंगे। इसके अलावा एंड्राइड ‘O’ में सुर​क्षा के लिहाज से भी कुछ फीचर्स की सुविधा दी है। वहीं कंपनी ने एंड्राइड O में नए डेवलपर टूल और नई प्रोग्रामिंग भाषा को भी शामिल किया है। आइए जानते हैं एंड्राइड O में उपलब्ध पांच फीचर्स के बारे में जो यूजर्स के लिए होंगे बेहद उपयोगी। Also Read - गूगल ने burger और beer इमोजी को एंड्राइड 8.1 में किया फिक्स

Also Read - एंड्राइड 8.0 Oreo अपडेट के बाद अपने आप रिबूट हो रहे यूजर्स के फोन

एंड्राइड O के पांच फीचर्स Also Read - Official: मोटो G4 Plus को मिलेगा एंड्राडइ 8.0 Oreo अपडेट

1. Snooze नोटिफिकेशन

एंड्राइड O में नोटिफिकेशन को बेहतर तरीके से पेश किया गया है। जिसके बाद आपको बार बार आने वाले नोटिफिकेशन्स डिस्टर्ब नहीं करेंगें। इसके लिए एंड्राइड O में उन नोटिफिकेशन्स को Snooze करने की सुविधा दी गई है। इसके लिए आपको अपनी ऊँगली को स्लाइड करना होगा और एक लिमिट सेट करनी होगी कि कितनी देर के लिए आप इन नोटिफिकेशन्स को Snooze करना चाहतें है। आप 15 मिनट, 30 मिनट या 60 मिनट या अपनी इच्छानुसार इन नोटिफिकेशन्स को Snooze कर सकतें है।

इसे भी देखें: Google I/O 2017: गूगल ने पेश किया एंड्राइड ‘O’, जानें इसके बारे में सब कुछ

2. पिक्चर-इन-पिक्चर

यह फीचर एप्पल के आईपैड डिवाइस में पहले देखा जा चुका है। वहीं अब एंड्राइड यूजर्स भी इसका लाभ उठा सकेंगे। एंड्राइड O में आपको किसी अन्य एप के साथ इंटरैक्ट करते वक्त भी विडियो प्ले करने की सुविधा उपलब्ध होगी। यानि यूजर्स ​वीडियो को आॅफ किए बिना स्मार्टफोन के होम पेज पर जाकर अन्य कार्य भी आसानी से कर सकते हैं।

3. Vitals

गूगल ने एंड्राइड ‘O’ में बेहतर बैटरी बैकअप और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए एक और फीचर Vitals की भी जानकारी दी। जो असल में OS की सुरक्षा और इसके ऑप्टिमाइजेशन को सही प्रकार से चलाने का काम करता है। सुरक्षा की द्रष्टि से गूगल ने अब इस नए OS में ऐसे फीचर शामिल किये हैं जिनके माध्यम से आप सभी ऐप्स को स्कैन भी कर सकते हैं। ऐसे भी कह सकते हैं कि अगर आप किसी भी ऐप को प्ले स्टोर से अपलोड कर रहे हैं तो उसे आप स्कैन करके अपने डिवाइस की सुरक्षा को पुख्ता कर सकते हैं। हालाँकि इसे किसी भी रूप में एक नया फीचर नहीं कहा जा सकता है। क्योंकि गूगल प्ले स्टोर पर सभी ऐप्स को सुरक्षा की द्रष्टि से एनालाइज किया जाता है।

इसे भी देखें: सैमसंग Galaxy J5 (2017) का प्रेस रेंडर लीक, सामने आई स्पेसिफिकेशन और कीमत की जानकारी

4. ऑटोफिल सिस्टम वाइड

अगर आप एक पासवर्ड मैनेजर ऍप का इस्तेमाल करतें है तो एंड्राइड O आपको आपके डिवाइस पर ऑटोफिल के माध्यम से आसानी से सुरक्षित पहुँच देता है। आप उस पासवर्ड मैनेजर ऐप को चुनने में सक्षम होंगे जिसके लिए आप सिस्टम वाइड ऑटोफिल सुविधा का लाभ लेना चाहते हैं। ये उसी के तरह है कि आप अपने फ़ोन में किस कीबोर्ड का इस्तेमाल कर्मा चाहतें है।

5. स्मार्ट टेक्स्ट सिलेक्शन

इस फीचर की मदद से आप अपने फोन में केवल फिंगर के माध्यम से टेक्स्ट सिलेक्ट कर सकते हैं और वह भी केवल उतना जितनी आपको आवश्यकता है। एंड्राइड O के स्मार्ट टेक्स्ट​ सिलेक्शन में पता, व्यावसायिक नाम और अन्य चयनों को आॅटोमेटीकली सिलेक्ट कर संपूर्ण टेक्स्ट को आसानी से चुनने में मदद करता है।

इसे भी देखें: Google I/O 2017: भारत, ब्राज़ील और अन्य उभरते बाज़ारों के लिए गूगल ने पेश किया Android Go

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: May 18, 2017 9:40 AM IST
  • Updated Date: February 15, 2022 3:59 PM IST



new arrivals in india