comscore
News

INTERVIEW: Tambo मोबाइल के CEO बोले, बजट में हिट और जेब में फिट हैं हमारे स्मार्टफोन

आइए आपको बताते हैं कि आखिर क्यों कंपनी अपने स्मार्टफोन की कीमत को 7,000 रुपए के अंदर ही रखना चाहती है?

Sudhir Kumar CEO Tambo

मेक इन इंडिया ब्रांड Tambo मोबाइल धीरे-धीरे भारतीय स्मार्टफोन मार्केट में अपनी पैठ बढ़ाने की कोशिश कर रहा है। इसके लिए कंपनी कम कीमत में लेटेस्ट टेक्नोलॉजी वाले बेहतरीन स्मार्टफोन को भारतीय बाजार में पेश करने पर पूरा फोकस कर रही है। फिलहाल, मार्केट में Tambo के फीचर फोन से लेकर स्मार्टफोन तक मौजूद हैं। कंपनी के अनुसार, वह टैम्बो ब्रांड के अंदर 700 से 7000 रुपये तक के प्राइस सेगमेंट में डिवाइस पेश कर अपने कस्टमर्स को बांधने की कोशिश में है।

कंपनी की स्ट्रैटजी और आगे आने वाले समय में कंपनी किस तरह काम करेगी यह जानने के लिए हमने Tambo मोबाइल के सीईओ Sudhir Kumar से बात की। इस इंटरव्यू में सुधीर कुमार ने कई बातों के जवाब बड़ी बेबाकी के साथ दिए। आइए आपको बताते हैं कि आखिर क्यों कंपनी अपने स्मार्टफोन की कीमत को 7,000 रुपए के अंदर ही रखना चाहती है?

इंडियन स्मार्टफोन मार्केट में आपने कब एंट्री की थी और अभी तक आपका एक्सपीरियंस कैसा रहा है, भारत में आपका टारगेट ऑडियंस क्या है?

Tambo मोबाइल के सीईओ Sudhir Kumar ने बताया कि अप्रैल 2018 में Tambo ने भारतीय मोबाइल हैंडसेट मार्केट में कदम रखा था। हमने टैम्बो मोबाइल ने सभी उम्र के कस्टमर्स को टारगेट करते हुए अपने डिवाइस को पेश किया है। साथ ही डिवाइस सभी के लिए उपलब्ध हो इसलिए हमने इनकी कीमत को भी एक लिमिट में रखने की कोशिश की है। आगे उन्होंने कहा कि वह हर महीने टैम्बो मोबाइल के फाइनेंस और ह्यूमन रिसोर्स में निवेश कर रहे हैं, जिससे बिजनेस को और आगे बढ़ाया जा सके। टैम्बो के 700 से अधिक डिस्ट्रीब्यूटर्स और 50,000 रिटेल आउटेलट राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात, बिहार, झारखंड, पंजाब आदि जैसे बाजारों में मौजूद हैं।

स्मार्टफोन और फीचर फोन मार्केट में अभी तक आपका कितना मार्केट शेयर है?

Tambo मोबाइल के सीईओ Sudhir Kumar ने बताया कि फिलहाल भारत में अपने मार्केट सेगमेंट में टैम्बो टॉप 3 पोजीशन पर है। हालांकि, उन्होंने कहा कि बाजार हिस्सेदारी का एक निष्पक्ष और वास्तविक मूल्यांकन तभी होना चाहिए जब कम से कम एक साल बाजार में पूरा कर लें। फिर भी, बाजार में मौजूद लगभग छह महीने के छोटे समय अंतराल को देखते हुए कहा जा सकता है कि हमने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है।

भारत में आपने अभी तक आपने कितना इन्वेस्टमेंट किया है और आगे फ्यूचर में आपकी क्या स्ट्रैटजी है?

Sudhir Kumar का कहना है कि टैम्बो ने 600 करोड़ रुपये के निवेश के साथ भारतीय हैंडसेट बाजार में एंट्री की है। निवेश में हमारा ज्यादा शेयर R&D और प्रोडक्ट डेवलपिंग टीम को जाता है। टैम्बो हमेशा ही इन्वेस्ट करता है, क्योंकि मोबाइल फोन सेगमेंट में बहुत अधिक गुंजाइश है। हमारा मकसद कम से कम कीमत में बेहतर क्वालिटी के साथ प्रोडक्ट कस्टमर्स को उपलब्ध कराना है। वर्तमान में टैम्बो मोबाइल ब्रांड के तहत हम एसेसरीज में भी एंट्री करने की प्लानिंग कर रहे हैं।

क्या आप एंट्री सेगमेंट में ही बने रहेंगे या फिर आपकी इससे ऊपर के सेगमेंट में उतरने की कोई योजना है?

टैम्बो ब्रांड के अंदर हमारी कोशिश है कि हम 7,000 रुपए के अंदर ही मोबाइल कस्टमर्स को उपलब्ध कराएं। अपने ऑडियन्स को टारगेट करन के लिए जरूरी है कि हम एंट्री-लेवल बजट सेगमेंट स्मार्टफोन पर ही फोकस करें। हमारी कंपनी Agaston Mobile भारत में Tambo ब्रांड के तहत अपने स्मार्टफोन बेचती है।

स्मार्टफोन के अलावा आप क्या एसेसरीज सेगमेंट में उतरने की योजना बना रहे हैं?

Tambo मोबाइल की पैरेंट कंपनी Agaston Mobile के अंदर जल्द ही मोबाइल एसेसरीज को पेश किया जाएगा। कंपनी अपने ईयरफोन्स, पावरबैंक और आदि प्रोडक्ट्स को पेश करेगी। इन प्रोडक्ट को रिटेल स्टोर्स और मल्टी-ब्रांड स्टोर्स में एक शानदार कीमत के साथ सेल किया जाएगा। यह एक एंट्री लेवल बजट एसेसरीज होंगी, जिन्हें इस महीने के आखिर तक पेश किया जाएगा।

ऑफलाइन के बाद क्या आपकी ऑनलाइन सेगमेंट में उतरने की योजना है?

भारत में Tier-2 और Tier-3 मार्केट की ऑडियन्स को टारगेट करने के लिए हम सिर्फ ऑफलाइन मार्केट में ही हैं। बाजार और टारगेट ऑडियन्स के लिए इन क्षेत्रों में गतिशीलता की सीमित पहुंच के कारण ऑनलाइन मोबाइल मोबाइल फोन बाजार में उतरने की संभावना नहीं है। हम अपने चारों तरफ फैले डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क की मदद से इन बाजारों में प्रवेश करना चाहते हैं। टैम्बो उन डिस्ट्रीब्यूटर्स के साथ है जो यूजर फ्रेंडली डिवाइसों के साथ हमारे संभावित ग्राहकों तक पहुंचने में मदद करते हैं। इसलिए यह ब्रांड अब तक ऑनलाइन बिक्री में शामिल होने की योजना नहीं बना रहा है।

  • Published Date: October 16, 2018 12:51 PM IST