comscore
News

FIRST IMPRESSIONS: मोटोरोला वन और वन पावर स्मार्टफोन के डिजाइन से लेकर सॉफ्टवेयर तक...

कभी मोटोरोला भारत में मार्केट लीडर हुआ करती थी। लेकिन, शाओमी, ओप्पो और वीवो जैसे ब्रांड ने मोटोरोला को भारत में पछाड़ दिया।

motorola-one-power-ifa-2018-hands-on

इन दिनों बर्लिन में IFA 2018 इवेंट चल रहा है। टेक्नोलॉजी एंड कंज्यूमर इलेक्ट्रोनिक्स इंडस्ट्रीज के लिए IFA सबसे बड़ा इवेंट है। यहीं मोटोरोला ने अपने दो डिवाइस- Motorola One और One Power लॉन्च किए हैं। इन दोनों ही स्मार्टफोन का पहली बार एंड्रॉइन वन के लिए गूगल के साथ कोलेबरेशन हुआ है। इन दोनों स्मार्टफोन में नॉच दी गई है। इन स्मार्टफोन्स के जरिए मोटोरोला ने दिखाया है कि कैसे वो मॉर्डन कंज्यूमर्स की आवश्यकताओं को समझकर इंडस्ट्री में बदलाव ला रही है।

क्या भारत में कमबैक की तैयारी में है मोटोरोला?
कभी मोटोरोला भारत में मार्केट लीडर हुआ करती थी। लेकिन, शाओमी, ओप्पो और वीवो जैसे ब्रांड ने मोटोरोला को भारत में पछाड़ दिया। मोटोरोला वन और मोटोराला पावर के जरिए कंपनी भारत में कमबैक की तैयारी में है। आइये इन दोनों ही स्मार्टफोन के डिजाइन से लेकर हार्डवेयर व सॉफ्टवेयर के बारे में विस्तार से जानते हैं……

डिजाइन और डिस्प्ले
आपको बता दें कि क्रिटिक स्मार्टफोन में नॉच को पसंद नहीं करते हैं, लेकिन कंज्यूमर्स इसे प्राथमिकता के साथ लेते हैं। लेनोवो मोटोरोला वन और मोटोरोला पावर के जरिए नॉच बेस्ड स्मार्टफोन्स के अपने प्रोमिश को पूरा करने की कोशिश कर रही है। इन दोनों ही डिवाइस के फ्रंट में नॉच डिस्प्ले दी गई है।

मोटोरोला वन में 6.18 इंच की एचडी प्लस डिस्प्ले दी गई है जबकि वन पावर स्मार्टफोन में 5.9 इंच की एचडी प्लस डिस्प्ले दी गई है। दोनों ही स्मार्टफोन में 1520×1080 पिक्सल का रिज्यूलेशन दिया गया है। इन दोनों ही डिवाइस को साथ वक्त बीताने पर मैंने यह ऑब्जर्व किया कि मैं जैसे नोकिया 6.1 प्लस स्मार्टफोन चला रहा हूं.. जहां आपको ज्यादा स्क्रीन देखने को मिलती है। खासकर जब आप वेब ब्राउज करते हैं। फेसबुक या फिर इंस्टाग्राम चलाते हैं।

मोटोरोला वन में मेटल और ग्लास का डिजाइन दिया गया है। जबकि, वन पावर का बैक पॉलीकार्बोनेट से बना है। स्मार्टफोन के बैक में पॉलीकार्बोनेट की वजह से 5,000mAh की लार्ज बैटरी पैकिंग में मदद मिलती है।

हार्डवेयर
मोटोरोला वन में क्वॉलकॉम स्नैपड्रैगन 625 प्रोसेसर दिया गया है। जबकि वन पावर में स्नैपड्रैगन 636 सीपीयू दिया गया है। ये दोनों ही स्मार्टफोन 4जीबी रैम व 64 जीबी स्टोरेज के साथ आते हैं। लेनोवो का कहना है कि अभी इन्हें 6 जीबी रैम में पेश नहीं किया जाएगा। दोनों ही डिवाइस में ड्युल कैमरा सेटअप है।

मोटोरोला वन में 13 मेगापिक्सल व 2 मेगापिक्सल का ड्युल रियर कैमरा दिया गया है। वहीं वन पावर में 16 मेगापिक्सल व 5 मेगापिक्सल का कैमरा सेटअप दिया गया है। दोनों ही डिवाइस के फ्रंट में 8 मेगापिक्सल का कैमरा दिया गया है। बता दें कि मोटोरोला पहले कभी भी अपने कैमरे के लिए बेहतर साबित नहीं हुआ है, वो हमेशा बेहतर कैमरा क्वालिटी देने का वादा करता आया है।

सॉफ्टवेयर व एंड्रॉइड वन
मोटोरोला हमेशा से bloatware के अगेंस्ट रहा है। अब वो एंड्रॉइड एक्सपीरियंस दे रहा है। एंड्रॉइड एक्सपीरियंस देने के लिए उसने अपने इन दोनों स्मार्टफोन में एंड्रॉइड वन दिया है। ये दोनों ही डिवाइस एंड्रॉइड 8.1 ऑरियो पर रन करेंगे। इससे इन दोनों डिवाइस को कैमरे में गूगल लेंस इंटीग्रेडिट फीचर्स मिलेगा। ये दोनों ही डिवाइस को गूगल असिस्टें भी मिलेगा।

शाओमी और नोकिया पहले से ही एंड्रॉइन वन क्लब ज्वॉइन कर चुके हैं और अब मोटोरोला ने भी ज्वॉइन कर लिया है। अगर आप 2018 में फोन लेने की सोच रहे हैं तो आपको इन स्मार्टफोन के सॉफ्टवेयर को प्रायोरिटी देनी चाहिए।  मोटोरोला एंड्रॉइड पाई व एंड्रॉइड Q अपडेट देने का वादा कर रहा है। इसके अलावा तीन साल तक सॉफ्टवेयर अपडेट का भी वादा मोटोरोला कर रहा है।

आखिरी बात…
2013 में मैंने Moto X के साथ अपनी स्मार्टफोन जर्नी शुरू की थी। यानी मेरे पर उस वक्त मोटो एक्स फोन था। मोटोरोला वन और मोटोरोला पावर को देखने के बाद मैं इन दोनों स्मार्टफोन से इंप्रेश हुआ हूं। अगल लेनोवो मोटोरोला वन पावर की कीमत 15 हजार के अंदर रखता तो निश्चित तौर पर पूरी तरह कंज्यूमर्स का दिल जीत लेता।

You Might be Interested

Motorola One Power
Android 8.1 Oreo
Snapdragon 636 octa-core SoC
16MP + 5MP
  • Published Date: August 31, 2018 6:12 PM IST
  • Updated Date: August 31, 2018 6:13 PM IST