comscore कहीं महज दीवार पर किसी फोटो फ्रेम की तरह ही तो लटका नहीं रह जाएगा आपका टीवी? | BGR India
News

कहीं महज दीवार पर किसी फोटो फ्रेम की तरह ही तो लटका नहीं रह जाएगा आपका टीवी?

आने वाले तीन सालों में टीवी को कहीं पीछे छोड़कर एक नया ही रिकॉर्ड कायम करने की राह पर चल पड़ा है आज का स्मार्टफोन।

Smartphone- Pixabay

समय निरंतर आगे की ओर अग्रसर है, कभी भी यह पीछे मिदकर नहीं देखता है। समय के साथ साथ तकनीकी का भी बड़े पैमाने पर विकास हो रहा है, नई नई खोजें सामने आ रही हैं। वहीँ अगर हम एक स्मार्टफोन के उदहारण को लेकर चलें तो आज से लगभग 15 साल पहले हमने किसी ऐसे फोन की कल्पना भी नहीं की थी जो आपके दिनचर्या से लेकर बैंक, लेन देन, अपने से जुडें रहना आदि काम कर सकता हो, हालाँकि इसे लेकर काम काफी समय से चल रहा था। मुझे याद है दुनिया का पहला स्मार्टफोन जो आज की तरह तो स्मार्ट नहीं था लेकिन हाँ उस जमाने के लिए वह अपने आप में एक ऐसी खोज थी जिसे कादी सराहा जाना चाहिए। क्योंकि अगर उस समय ऐसा नहीं हुआ होता तो शायद हमें आज का इतना एडवांस स्मार्टफोन नहीं मिलता जिसे हम निरंतर इस्तेमाल कर रहे हैं।

हाँ आज हम उस दौर में जीवन यापन कर रहे हैं, जो तकनीकी से पूरी तरह से ओतप्रोत है। हालाँकि आने वाले समय और भी एडवांस होने वाला है। लोग स्मार्टफोन को ही अपना सब कुछ मान कर काम करने लगे हैं। एक स्मार्टफोन के अभाव में आज मैं नहीं समझता की दुनिया में कोई व्यक्ति जी सकता है। अब अगर आप उस स्थिति में कि कोई फोन नहीं करते तो ठीक है, हालाँकि भारत में और अफ्रीका के कई देशों में ऐसा है। लेकिन इसके अलावा आज दुनिया के लगभग सभी लोगों के पास मोबाइल फोन मिल जाएगा, हालाँकि हम ऐसा इसलिए भी कह रहे हैं क्योंकि इस तरह के शब्दों का प्रयोग किया जाना किसी सेंटेंस के निर्माण के लिए जरुरी है, इसके अलावा अगर हम भारत की ही बात करें तो अभी भी मोबाइल फोन और इंटरनेट इस्तेमाल करने वालों की संख्या काफी कम है। अब बात आती है TV की तो वहां अलग ही माहौल बन जाता है। क्योंकि आज भी लोग विडियो और फिल्मों को ज्यादातर टीवी पर ही देखना पसंद करते हैं। क्योंकिआपको टीवी देखते समय अपने करीबियों के साथ कुछस अमे बिताने का समय मिल जाता है। इसे भी देखें: Mi MIX 2 के लॉन्च से पहले शाओमी ने रीलीज की कुछ वीडियो

smartphone-market

वरना लोग तो ट्रेवल करते हुए आजकल अपने फोन में ही सब देख लेते हैं, आज खबरें आपके फोन पर, खाना आपके फोन पर है, आपका बैंक आपके फोन में है, आपका कैश आपके फोन में है। आपके मेल आपके फोन में हैं, आपके फोटो आपके फोन में हैं, कुलमिलाकर कहीं कि आपको जो भी कुछ जीने के लिए चाहिए सब कुछ आपके फोन में आ चुका है। और आने वाले समय स्मार्टफोन का ही होने वाला है। काफी देर पाद ही सही लेकिन हम असल मुद्दे पर आ ही गए। आपको बता दें कि एक नई रिसर्च से सामने आया है कि 2020 तक TV पर मौजूद सभी यूजर्स बड़ी संख्या में मोबाइल पर जाने वाले हैं। ऐसा माना जा रहा है कि 50 फीसदी टीवी पर मौजूद लोग 2020 तक मोबाइल पर अपना रुख कर लेंगे। इसे भी देखें: स्केटिंग, टम्बलिंग और तैराकी में विशेषज्ञ रहे Fridtjof Nansen के जन्मदिन पर गूगल ने बनाया डूडल

इसके अलावा जैसा मैं आपको ऊपर भी बता रहा था कि समय बदल रहा है और सैमसंग के साथ लोगों की TV और video की व्यूवरशिप में भी बदलाव आ रहा है। परंपरागत या विडियो ऑन डिमांड VOD पिछले तीन सालों में लगभग एक बराबर हो गई है। यानी परंपरागत टीवी जिसकी संख्या आज तक काफी ज्यादा थी, पिछले तीन साल में उसके बराबर VOD अ पहुंचा है। तो आप देख सकते हैं कि कितना बदलाव हुआ है। और आने वाले समय में कितना बदलाव होने वाला है। अगर हम Ericsson ConsumerLab research की एक रिपोर्ट पर जो अभी हाल ही में आई है, ध्यान दें तो हमें पता चलता है कि लगभग आधा टीवी/विडियो कॉन्टेंट पर मोबाइल की स्क्रीन पर देखा जाने लगा है। और इसमें से आधा आज एक स्मार्टफोन पर देखा जाने लगा है। अब इस रिपोर्ट को अगर हम भविष्य के गर्भ में रखकर देखें तो आंकड़े कुछ और ही नजर आयेंगे। यानी पलड़ा स्मार्टफोन का ज्यादा भारी लगता है।  इसे भी देखें: Jio Payments Bank दिसम्बर में किया जा सकता है पेश

Smartphone- Pixabay

जैसा आप देख ही रहे हैं कि आज स्मार्टफोन को ज्यादा तवज्जो दी जाने लगी है। और समय भी निरंतर बदल रहा है, आपको बता दें कि लगभग 50 फीसदी टीवी और विडियो व्युविंग को मोबाइल फोन ने अपने कब्जे में ले लिया है, इसमें टैबलेट, स्मार्टफोन और लैपटॉप शामिल हैं। और ऐसा पिछले तीन सालों में हुआ है। यानी 2010 की अगर बात करें तो यह उस समय से अब तक 85 फीसदी की बढ़त हासिल कर चुका है। हालाँकि अघर हम महज स्मार्टफोन की चर्चा करें यानी इसमें से टैबलेट और लैपटॉप को अलग कर दें तो 2010 से अब तक इसमें 160 फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है। जो अपने आप में एक बड़ा आंकड़ा है। इसे भी देखें: शाओमी Mi MIX 2 आज भारत में होगा लॉन्च, ऐसे देखें लाइव स्ट्रीम

smartphones

गौरतलब हो कि, अभी तक का सबसे ज्यादा समय टीवी और विडियो कॉन्टेंट को प्रति सप्ताह के हिसाब से देखने का जो औसत सामने आया है, वह 30 घंटे का है। और जैसा कि मैंने कहा यह अब तक का सबसे ज्यादा है। इसमें परंपरागत टीवी, लाइव, और ऑन डिमांड कॉन्टेंट शामिल है। इसके अलावा इसमें डाउनलोडेड और रिकॉर्डेड कॉन्टेंट के साथ साथ DVD आदि भी आते हैं। अगर हम महज ऑन डिमांड सेवाओं की चर्चा करें तो यह 2012 में 1।6 से 2017 में 3।8 तक पहुँच गया है। इसके अलावा और भी बहुत कुछ बड़े आंकड़ों के साथ यहाँ शामिल किया जा सकता है लेकीन अभी इस बार एमे बाद में कभी चर्चा की जा सकती है। इसे भी देखें: पेटीएम मॉल पर ‘मेरा कैशबैक सेल’ में 1 करोड़ की ब्रिक्री

ऑन डिमांड कॉन्टेंट में ज्यादा बढ़ोत्तरी को दर्ज किया जा सकता है, क्योंकि आज लगभग आधे लोग जिनकी उम्र 16-19 साल के बीच की है, वह अपना समय ऑन डिमांड कॉन्टेंट को देखने में बिता रहा है, इसमें से लगभग 60 फीसदी से ज्यादा अपने टीवी और विडियो देखने के माध्यम को स्मार्टफोन बना चुके हैं। इसके अलावा वह अपना अधिक से अधिक समय VR पर बिताने लगे हैं। और अब कुछ ही समय बचा है जब यह तकनीकी भी मेन स्ट्रीम में शामिल कर ली जायेगी। ऐसा कहा जा रहा है कि 2020 तक लगभग तीन में से एक व्यक्ति VR यूजर बन कर सामने आने वाला है। इसे भी देखें: सैमसंग Galaxy Note 7 के बाद इस फोन में हुआ ब्लास्ट, कंपनी ने कहा यूजर की है गलती

smartphone-mnp

अब यहाँ सवाल उठता है कि स्मार्टफोन को इस हद क्या वाकई बढ़ावा देना चाहिए, कि वह आपके जीवन में आपसे ज्यादा महत्त्व रखने लगे, लेकिन यह सवाल इस समय करना सही नहीं होगा। हम महज बात करेंगे स्मार्टफोन के आने वाले समय में टीवी आदि को पीछे छोड़ने की तो आपको आंकड़े देखकर तो पता चल ही गया होगा कि आने वाले समय में या लगभग आज से तीन साल बाद तक स्मार्टफोन किस स्तर पर पहुँचने वाला है। और किसी तकनीकी को जो आपके लिए सेफ है इतना आगे जाना भी चाहिए। अब ये तो आने वाला समय ही बताएगा कि क्या आखिर टीवी महज दिवार पर लटकाने वाली चीज़ बनकर रह जाएगा या कंपनियां स्मार्ट टीवी को और भी अधिक स्मार्ट बनाकर आपके सामने इस समय तक ले आएँगी। इसे भी देखें: Whatsapp स्टोरी को बिना स्क्रीनशॉट लिए ऐसे करें डाउनलोड

  • Published Date: October 10, 2017 12:00 PM IST
  • Updated Date: October 10, 2017 12:08 PM IST