comscore आखिर क्यों आग के हवाले हो जाते हैं आपके स्मार्टफोन? क्या बचा जा सकता है इस तरह की घटनाओं से | BGR India
News

आखिर क्यों आग के हवाले हो जाते हैं आपके स्मार्टफोन? क्या बचा जा सकता है इस तरह की घटनाओं से

कुछ सावधानी और कुछ उपाए आपको सुरक्षित रख सकते हैं।

galaxy-note-7-fire

आज कहीं न कहीं सभी को यह डर रहता है कि कहीं उसका फोन उसकी जेब में रखे रहने के दौरान ब्लास्ट न हो जाए। आज ऐसा सभी को इसलिए भी लग रहा है क्योंकि ऐसा कई घटनाएं हमारे सामने आ चुकी हैं। हम सभी को याद है कि किस तरह से सैमसंग गैलेक्सी Note 7 की घटना के बाद सभी यूनिट्स को वापिस कंपनी में बुलाया गया था। और इसके बाद अन्य कई स्मार्टफोंस के साथ भी हो चुका है। आपको बता दें कि सैमसंग के बाद यह घटना Oppo, Xiaomi और एक बार फिर से Samsung के साथ घटित हुई है। अभी हाल ही में एक खबर सामने आई है जो कहती है कि सैमसंग गैलेक्सी S7 में ब्लास्ट हुआ है। अब कहीं न कहीं हमें डर रहता है कि अगर ऐसा हमारे साथ भी हो गया तो क्या होगा। इसके अलावा सबसे अधिक डर हमें इस बात का रहता है कि कहीं ऐसा उस दौरान न हो जाए जिस दौरान आपका बच्चा आपके फोन को इस्तेमाल कर रहा हो। आजकल बच्चे फोंस में ज्यादा दिलचस्पी लेने लगे हैं। वह गेमिंग और विडियो देखने के साथ साथ फोन का अधिक से अधिक इस्तेमाल कर रहे हैं। यहाँ उम्र की चर्चा मैं नहीं करूँगा क्योंकि आज तो दो साल का बच्चा भी स्मार्टफोन को इस्तेमाल करना जानता है और उसके ऊपर ही सभी उम्र के लोग आज बड़ी संख्या में स्मार्टफोंस का इस्तेमाल कर रहे हैं। Also Read - 5 बैक कैमरों के साथ आ रहा Nokia N73 स्मार्टफोन, मिल सकता है 200MP मेन कैमरा

Also Read - 5,050mAh की तगड़ी बैटरी के साथ Nokia G21 भारत में लॉन्च, जानें कीमत और स्पेसिफिकेशन

हालाँकि स्मार्टफोन का इस्तेमाल हमें तकनीकी के उस पहलू से अवगत कराता है जहां हम कहीं न कहीं पहुचने के आज से 20 साल पहले सपने देखा करते थे। आज नई नई तकनीकी से लैस होकर स्मार्टफोन बाजार में दस्तक दे रहे हैं। जहां हमें कुछ नई तरह की डिसप्ले देखने को मिल रही हैं, वहीँ एक DSLR कैमरा को आप अपने फोन में ही इस्तेमाल कर सकते हैं, क्योंकि तकनीकी उस हद तक विकसित हो गई है कि अब हमें एक DSLR कैमरा की अगर से जरूरत नहीं है। हम अपने स्मार्टफोन में मौजूद कैमरा के माध्यम से ही ऐसा कर सकते हैं। हमारी दिनचर्या को किस हद तक एक स्मार्टफोन में बदलकर रख दिया है। आप अपने आप ही अंदाजा लगा सकते हैं। लेकिन इतना सब होने के बाद भी आज एक बड़ी समस्या हमारे सामने जो उत्पन्न हो रही है। वह है स्मार्टफोंस के ब्लास्ट होने की। आखिर किस तरह से इस समस्या से बचा जा सकता है। और किस तरह से स्मार्टफोंस निर्माता कंपनियां इस ओर काम कर रही हैं। इसे भी देखें: शाओमी Mi 7 स्नैपड्रैगन 845 और 6-इंच OLED स्क्रीन के साथ होगा लॉन्च Also Read - Nokia G21 भारत में इस दिन होगा लॉन्च, मिलेगी 5,050mAh की तगड़ी बैटरी

नोकिया की BL 5C बैटरी

हम भली भाँती जानते हैं कि सबसे ज्यादा जो मामला चर्चा में रखा है वह सैमसंग गैलेक्सी Note 7 का है। इस स्मार्टफोन के एक के बाद एक ब्लास्ट होने से मानो स्मार्टफोन जगत में खलबली सी मच गई थी। अगर कोई इस स्मार्टफोन को अपने साथ ले जा रहा था तो उसे इसे अपने साथ ले जाने के लिए माना जर दिया गया था। और यहाँ तक की कोई भी व्यक्ति Note 7 स्मार्टफोन को अपने साथ एयरपोर्ट में भी नहीं ले जा सकता था। एक तरह से इस स्मार्टफोन के लिए एक निर्देश जारी कर दिया गया था। ऐसा ही एक मामला हमने नोकिया के फ़ोन में काफी समय पहले देखा था जब हमें बैटरी को बदलने के लिए कहा जा रहा था। जिन जिन लोगों के और उनके फ़ोन में BL5C नाम की बैटरी थी उस समय उस बैटरी को बदलने को कहा जा रहा था।

Xiaomi-redmi-note-4-explodes

ज्यादातर यह बैटरी नोकिया के फोंस में देखने को मिल रही है, उस समय सामने आ रहा था कि यह बैटरी अपने आप ही फूल रही है। और उसके बाद फटना शुरू कर रही थी। काफी समय बाद जाकर इस बैटरी को बाजार से पूरी तरह से हटाया गया था। आपको बता दें कि फोन के फटने के लिए जो सबसे बड़ा कारण सामने आया है और BL5C की बैटरी से लेकर सैमसंग गैलेक्सी Note 7 की बैटरी में बदलाव के बाद घटना को देखते हुए यही कहा जा सकता है कि बैटरी ही इसका सबसे बड़ा कारण है। अब यहाँ सवाल उठता है कि अगर कंपनियां इस बात को जानती हैं तो इसके लिए क्या कदम उठाये जा रहे हैं। हालाँकि जैसे जैसे तकनीकी अपना विकास कर रही है, वैसे वैसे उस तरह की घटनाओं में कमी देखी गई है। हाँ इतना जरुर है कि कभी कभी सुनने में आता है कि चार्जिंग के दौरान किसी फोन की बैटरी में आग लग गई, या चार्जिंग के दौरान बात करते हुए आपके फोन में आग लग गई, इसके अलावा जेब में बिना किसी वजह के फोन की बैटरी फटने लगी है। इसे भी देखें: Apple iPhone 8 स्मार्टफोन के स्टोरेज वैरिएंट और कीमत हुई लीक, 12 सितम्बर को नहीं हो सकता है लॉन्च: रिपोर्ट

आखिर क्यों विस्फोट होती हैं बैटरी

जैसा कि आप जानते हैं कि हमारे फोन्स में आजकल दो तरह की बैटरी का इस्तेमाल किया जाता है। इसके से पहले है लिथियम आयन बैटरी, और दूसरे स्थान पर आती हैं लिथियम पॉलीमर बैटरी। आजकल स्मार्टफोंस में इन दोनों बैटरी को देखा जा सकता है। यहाँ आपको यह भी बता दें कि लिथियम-आयन बैटरी शायद ही कभी फूलती हैं या इनमें विस्फोट होता है, लेकिन जब कभी भी ऐसा होता है तो उसके मुख्य दो कारण हो सकते हैं। पहला कारण है कि जब आपके हाथ से आपका फोन कहीं गिर जाता है तो उसमें कहीं न कहीं कुछ कमी आ जाती है, और दूसरा कोशिकाओं के बीच की पतली कॉम्पैक्ट बैटरी सामग्री में एक ब्रेक आंतरिक शॉर्ट सर्किट को पैदा कर सकता है, इस कारण भी आपके बैटरी फूलने लगती है या उसमे विस्फोट होता है। इसके अलावा बाजार में आजकल मिलने वाली सस्ती बैटरी तो इस तरह के विस्फोट का कारण हमेशा ही हो सकती हैं। इसीलिए सभी कंपनियां कहती भी हैं कि आप अपने फोन के उसी चार्जर का इस्तेमाल अपने फोन को चार्ज करने में करें जो इसके साथ आया है। और बैटरी से किसी भी तरह की छेड़खानी न करें, हाँ अगर आपके फोन की बैटरी में कोई कमी आ जाती है तो आपको उसके लिए असली बैटरी का ही इस्तेमाल करना चाहिए, न कि किसी भी तरह की सस्ती बैटरी का।

क्या था सैमसंग गैलेक्सी Note 7 का मामला

जैसा कि हम ऊपर इस स्मार्टफोन के बारे में काफी चर्चा कर चुके हैं, और आप जानते ही हैं कि इस घटना के बाद इस स्मार्टफोन को बड़ी संख्या में जो यूनिट सेल हुए थे उन्हें वापिस लेना पड़ा था। और कंपनी ने जो कारण इस स्मार्टफोन को फटने को लेकर दिया था। वह भी बैटरी से सम्बंधित था। यहाँ आपको यह भी बता दें कि सैमसंग और विभिन्न रिपोर्टों का सुझाव है कि यह मामला उस समय ज्यादा बड़े पैमाने पर सामने आ रहा था, जब इस स्मार्टफोन को चार्ज किया जा रहा था, इसके अलावा फोन को जितनी जरूरत है उससे अधिक चार्ज कर देने से इस तरह की घटना सामने आती है। इसे भी देखें: जानें इन 6 मेड इन इंडिया मोबाइल फोंस के बारे में

चार्जिंग और बैटरी का अधिक गर्म हो जाना

आधुनिक स्मार्टफोन में और बैटरी के आसपास अत्यधिक गर्मी के संभावित कारण हैं। फ़ास्ट चार्जिंग की तकनीकी ओर बढ़ना अब लिथियम आयन बैटरी में अतिरिक्त करंट प्रदान कर रहा है, और प्रत्येक शक्ति हस्तांतरण के साथ हमेशा कुछ गर्मी पैदा होती है। यहाँ मामला वैसा ही है कि अधिक शक्ति, उतनी ही उच्च संभावित गर्मी। जबकि कुछ ही ताप-नुकसान बैटरी पर ही घटित होगा, कुछ गर्मी भी तेजी से चार्जिंग पावर रूपांतरण और पावर प्रबंधन सर्किट में खो जाएगी, जो आमतौर पर बैटरी के बगल में स्थित होता है। निश्चित रूप से अन्य की तुलना में बैटरी के एक छोर पर निश्चित रूप से अधिक गर्म हो सकती है।

Samsung Galaxy Note 7 is the new hoverboard, here's why

आज के स्मार्टफोन के अंदर प्रोसेसर भी 3 या 4 पीढ़ियों से हैंडसेट की तुलना में अधिक गर्मी का उत्पादन कर रहे हैं। आमतौर पर एक बैटरी के बगल में स्थित नहीं है, यह एक आधुनिक स्मार्टफोन के अंदर तापमान को जोड़ सकता है, गर्मी को बैटरी क्षेत्र से दूर स्थानांतरित करने के लिए इसे और अधिक मुश्किल बनाते हैं। इसे भी देखें: गूगल ने टीचर्स डे पर अलग अंदाज में बनाया नया डूडल

कैसे करें अपना बचाव

यहाँ कुछ भी सही प्रकार से कहना अभी इस समय सही नहीं है, हालाँकि बचाव कुछ तरीकों से किया जा सकता है। आपको बता दें कि आप अपना बचाव करने के लिए यह कुछ उपाए अपना सकते हैं, और सुरक्षित रह सकते हैं। साथ ही अपने करीबियों को भी सुरक्षित रख सकते हैं।

  1. ज्यादा गर्म होने पर अपने फोन की चार्जिंग को बंद कर दें: अगर आप अपने फोन को चार्ज कर रहे हैं और इसे ज्यादा समय हो गया है और अब आपको ऐसा महसूस हो रहा है कि आपका फोन कुछ ज्यादा ही गर्म हो गया है तो बिना कुछ किये सबसे पहले अपने फोन को चार्जिंग से हटा दें।
  2. किसी भी नकली चार्जर का इस्तेमाल करने से बचें: आपको इस बात का ख़ास ध्यान रखना होगा कि फोन के साथ आये चार्जर से ही अपने फोन को चार्ज करें किसी अन्य चार्जर या नकली चार्जर से फोन को चार्ज करना आपके लिए नुकसानदायी हो सकता है।
  3. बिस्तर पर अपने फोन को चार्ज न करें: अगर आप बिस्तर पर हैं अपने से कुछ दूरी पर अपने फोन को चार्ज करें, ऐसा करने से आपका काफी हद तक बचाव संभव है। और अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो इसका खामियाजा भी आपको भुगतना पड़ सकता है।
  4. चार्जिंग के दौरान अपने फोन पर ध्यान रखें: ऐसा कभी भी न करें तो अपने फोन को चार्जिंग पर लगे रहने के दौरान आप कहीं और चले जाएँ और उसे चार्जिंग पर लगाकर ही भूल जाएँ, ऐसा करने से आपको काफी बड़ा नुकसान हो सकता है। आपको अपने फोन के चार्जिंग के दौरान उसके आसपास ही रहना होगा ताकि आपको पता रहे कि आखिर आपका फोन कितना चार्ज हुआ है। और जैसा कि यह पूरी तरह से चार्ज हो जाए इसे चार्जर और बिजली से दूर कर लें।
  5.  कभी भी चार्जिंग के दौरान अपने फोन को इस्तेमाल न करें: अगर आप चार्जिंग के दौरान अपने फोन को चार्ज कर रहे हैं तो आपका कोई भी फोन को आपको काफी नुकसान दे सकता है। ऐसा करना आपके और आपके परिवार वालों के लिए खतरनाक हो सकता है। चार्जिंग पूरी हो जाने के बाद ही अपने फोन को इस्तेमाल करें। इसे भी देखें: शाओमी Mi A1 भारत में आज हो सकता है लॉन्च, यहाँ देखें लाइव स्ट्रीम

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: September 5, 2017 10:48 AM IST
  • Updated Date: February 15, 2022 4:22 PM IST


You Might be Interested

Samsung Galaxy S7

43400

Buy Now
Android 6.0 Marshmallow with TouchWiz UI
Exynos 8890 64-bit octa-core processors
12 MP with f/1.7 lens aperture,Dual Pixel
Samsung Galaxy S7 Mini
Snapdragon 820 chipset or Exynos 8890 chipset
12 MP
Xiaomi Redmi Note 4

9999

Android 6.0.1 Marshmallow with MIUI 8
Qualcomm Snapdragon 625 Octa-Core 2GHz processor
13 MP with f/2.0 aperture, PDAF
Samsung Galaxy Note 7R
Android 7.0 Nougat
Samsung’s Exynos 8890 64-bit Octa-Core Processor
12 MP
Samsung Galaxy S7 edge

43900

Android
Octa-Core Processor
12 MP with f/1.7 aperture

new arrivals in india